अकाली दल का वोट प्रतिश्त बढ़ाः सुखबीर सिंह बादल
May 27, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो

         गुरु ग्रंथ साहिब को राजनीति के लिए इस्तेमाल करने वालों के मुंह पर तमाचाः सिरसा

नईं दिल्लीः शिरोमणी अकाली दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष  सुखबीर सिंह बादल ने कहा है कि शिरोमणी अकाली दल परगुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी का झूठा आरोप लगाने वालों का कुछ नहीं रहा।
आज यहां लोकसभा चुनाव जीतने के बाद  हरसिमतर कौर बादल और उनको दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी औरपार्टी की दिल्ली इकायी की तरफ से सम्मानित किये जाने के पश्चात पत्रकारों से बातचीत करते हुए  सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि लोक सभा चुनावों में पंजाब में कांग्रेस समेत सारी ही पार्टियों ने केवल और केवल शिरोमणी अकाली दल को निशानाबनाया हुआ था।
श्री बादल ने कहा कि कांग्रेस  पार्टी और दूसरे दलों की तरफ से हमारे ऊपर बार-बार झूठे आरोप लगाए गए कि हमनें गुरु ग्रंथसाहिब की बेअदबी करवायी है लेकिन जिस महान गुरु का नाम अपने सियासी लाभ के लिए पंथ की नुमाईंदा पार्टी शिरोमणीअकाली दल को बदनाम कर रहे थे उस गुरु ने ही फैसला कर दिया और उन नेताओं का चुनावों में बहुत ही बुरा हशर हुआ है लेकिन शिरोमणी अकाली दल का वोट प्रतिशत 2017 के मुकाबले 7 फीसदी बढ़ा है।
अकाली अध्यक्ष ने बताया कि साल 2017 के चुनावों में अकाली दल को 30 फीसदी वोट पड़े थे जबकि इस बार 37 फीसदी पड़े हैं।उन्होंने बताया कि इसके विपरीत  कांग्रेस का वोट प्रतिशत 2017 के मुकाबले इस बार कम हुआ है। उन्होंने आगे कहा कि 2017 में कांग्रेस को 59 लाख वोट पड़े थे जबकि इस बार 47 लाख वोट पड़े हैं, वहीं अकाली दल को 2017 में 51 लाख वोट पड़े थे लेकिनइस बार बढ़ कर 55 लाख हो गए हैं।
श्री  बादल ने कहा कि जो लोग बरगाड़ी मार्चा लगा कर अकाली दल को बदनाम करने की कोशिश कर रहे थे और कांग्रेस के सुनील जाखड़ सब से ज्यादा शोर मचा रहे थे उनका हशर आपने देख लिया है। उन्होंने कहा कि सुखपाल सिंह खेहरा भी बेअदबी के मुद्देका लाभ लेने के लिए प्रचार कर रहा था। अकाली नेता ने बताया कि परमात्मा  ने इनका चुनावों में बुरा हाल कर दिया है इनका कुछ नहीं रहा। उन्होंने बताया कि जवारके, सिमरनजीत सिंह मान और खेहरा की ज़मानतें तक जब्त हो गयीं हैं.उन्होंने कहा कि शिरोमणी अकाली दल किसी की निजी पार्टी नहीं बल्कि पंथ की नुमाईंदा पार्टी है और प्रमात्मा ने अपने सेवकोंकी लाज अपने आप रखी है।
इस मौके पर बोलते हुए दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष और शिरोमणी अकाली दल के राष्ट्रीय प्रवक्ता .मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि शिरोमणी अकाली दल की लीडरशिप ने गुरु के आगे अरदास की थी जो परमात्मा  ने अपने सेवकों की अरदास सुनी है और साहिब श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी के झूठे इलज़ाम लगाने वालों के मुंह पर तमाचा पड़ा है।
उन्होंने कहा कि सिखों के कातिल गांधी परिवार के राहुल गांधी को बरगाड़ी में ले जा कर लोगों को गुमराह करने की कोशिश की गयी लेकिन लोग जानते हैं कि जिस कांग्रेस  ने हज़ारों गुरु ग्रंथ साहिब के स्वरुपों की बेअदबी करवायी, उस पापी परिवार के राहुल गांधी को बरगाड़ी ले जाने वालों के मुंह पर कौम ने तमाचा मारा है। उन्होंने कहा कि हम  सुखबीर सिंह बादल और  हरसिमरत कौर बादल को उनकी जीत पर बधाई देते हैं। जिन्होंने निंदकों का डट कर मुकाबला किया। उन्होंने कहा कि .सुखबीर सिंह बादल और  हरसिमरत कौर ने यह अरदास की है कि बेअदबी के दाषी जेल जायेंगे।
श्री सिरसा ने शिरोमणी अकाली दल की दिल्ली इकाई के उन सब सदस्यों और नेताओं का धन्यवाद किया जिन्होंने चुनावों के प्रचार के दौरान अपना योगदान दिया। इस समय रणजीत कौर, कुलवंत सिंह बाठ, हरमनजीत सिंह, भुपिंदर सिंह भुल्लर,आत्मा सिंह लुबाणा, जगदीप सिंह काहलों, परमजीत सिंह राणा, जसमीन सिंह नेकी, हरजीत सिंह पप्पा, रमिंदर सिंह सवीटा,विक्रम सिंह रोहिनी, निशान सिंह मान इत्यादि मौजूद थे।