ओयो वर्कस्पेसेज़ हर किसी के लिए काम को बनाएंगे आसान
July 18, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो

नई दिल्ली। लीज़्ड, फ्रैंचाइज़्ड एवं मैनेज्ड होटल्स होम्स एवं स्पेसेज़ से युक्त भारत की अग्रणी ग्लोबल होटल चेन ओयो ने आज भारत में वर्कस्पेसेज़ के अवसरों के लिए अपने मल्टी.ब्राण्ड दृष्टिकोण का आधिकारिक ऐलान किया है। न्यू रियल एस्टेट बिज़नेस केे सीईओ रोहित कपूर के नेतृत्व में ओयो वर्कस्पेसेज़ पूर्णतया नियन्त्रित मैनेज्ड वर्कस्पेस समाधान प्रदाता है जिसे देश की 80 फीसदी कामकाजी लोगों की ज़रूरतों को ध्यान में रखते हुए डिज़ाइन किया गया है। वर्क लाईफ को बेहतर बनाने के दृष्टिकोण के साथ बेहद खूबसूरती से डिज़ाइन किए गए वर्कस्पेसेज़ पेश करने वाली भारत की अग्रणी को.वर्किंग कंपनियों में से एकए इनोव8 के अधिग्रहण की पुष्टि करते हुए ओयो वर्कस्पेसेज़ ने दो अन्य कोवर्किंग ब्राण्ड्स. पावरस्टेशन और वर्कफ्लो के साथ भी अपने मल्टी.ब्राण्ड दृष्टिकोण की घोषणा की है। पावरस्टेशन छोटे एवं मध्यम आकार के कारोबारों को उचित कीमतों पर खूबसूरत एवं फंक्शनल वर्कस्पेस ;कार्यस्थलद्ध उपलब्ध कराएगाए वहीं वर्कफ्लो बजट.अनुकूल फंक्शनल को.वर्किंग समाधान है जो उभरते भारत की महत्वाकांक्षाओं को पूरा करेगा।

लॉन्च के समय ओयो वर्कस्पेसेज़ देश के 10़ शहरों में 15000़ सीटों के साथ अपने 21़ वर्कस्पेसेज़ का संचालन शुरू कर देगा। इनमें से वर्तमान में इनोव8, 6 शहरों. दिल्ली, नोएडा, गुरूग्राम, बैंगलुरू, चण्डीगढ़ और मुंबई में फैला है। इसके 16 सेंटर स्विगी, पेटीएम, पेप्सी, नायका, ओएलएक्स, लेंसकार्ट जैसे ब्राण्ड्स के 6000 से अधिक कर्मचारियों को अपनी सेवाएं प्रदान कर रहे हैं। पावरस्टेशन के पास 1000 सीटों से युक्त एक सेंटर गुरूग्राम में है और वर्कफ्लो 1500 से अधिक सीटों की क्षमता के साथ एनसीआर, हैदराबाद और बैंगलोर में अपने 4 सेंटर स्थापित कर चुका है।

मात्र रु 7999 और रु 6999 प्रति सीट की किफ़ायती शुरूआती कीमतों के साथ ओयो वर्कस्पेसेज़ ने 2019 के अंत तक भारत में अपनी मौजूदगी को 50 से अधिक सेंटरों तक मौजूदगी को विस्तारित करने का लक्ष्य तय किया है। मैनेज्ड वर्कस्पेसेज़ के कारोबार में ओयो का प्रवेश एक बड़ा कदम है। जिसके साथ ओयो वर्कस्पेस उन्मुख रियल एस्टेट सेक्टर में अपना विस्तार कर रही है और हॉस्पिटेलिटी उद्योग में अपना प्रभुत्व बनाए रखते हुए विश्वस्तरीय रियल एस्टेट ब्राण्ड बनने के अपने दृष्टिकोण को साकार करने की दिशा में प्रयासरत है।

पिछले पांच सालों में ओयो ने रियल एस्टेट के विभिन्न रूपों को अपग्रेड करने में अपनी गहन क्षमता का प्रदर्शन किया है और इन्हें प्रभावी एवं खूबसूरत स्पेसेज़ में बदला है। गुणवत्ताए सेवाओं की डिलीवरी एवं निरंतरता बनाए रखने के लिए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करते हुए ओयो हज़ारों लिविंग स्पेसेज़ का सफल संचालन कर रही है। मैनेज्ड वर्कस्पेसेज की बात करें तो इस क्षेत्र में भारत में 2020ष् तक 20 बिलियन डॉलर कारोबार के अवसर मौजूद हैंए जो ओयो के लिए इन क्षमताओं का लाभ उठाने और इस उद्योग में अपने आप को प्रभावी ब्राण्ड के रूप में स्थापित करने के लिए मार्ग प्रशस्त करते हैं।

इस अवसर पर रोहित कपूर चीफ़ एक्ज़क्टिव ऑफिसरए न्यू रियल एस्टेट बिज़नेस, ओयो ने कहा एक सर्विस स्पेस के रूप में वर्कप्लेस ओयो को अपनी मौजूदा टेक्नोलॉजी एवं संचालानात्मक दक्षता के इस्तेमाल के अवसर प्रदान करते हैं। एक लक्षित मल्टी.ब्राण्ड रणनीति के माध्यम से हम एक साथ काम करने वाले कर्मचारियों को अनूठा अनुभव प्रदान करना चाहते हैं और देश के ज़्यादा से ज़्यादा कारोबारों एवं पेशेवरों के लिए को.वर्किंग स्पेस सुलभ बनाना चाहते हैं।

कोवर्किंग स्पेस में कंपनी की योजनाओं पर बात करते हुए उन्होंने कहा आधुनिक दृष्टिकोण और टेक्नोलॉजी केे साथ हम कोवर्किंग स्पेस के विकास के लिए तत्पर हैं। इनोव8 के अधिग्रहण के साथ पावरस्टेशन और वर्कफ्लो का लॉन्च भी अनूठी पेशकश है जो उद्योग जगत में पहली बार हमारे मल्टी.ब्राण्ड दृष्टिकोण तथा हर किसी के लिएए हर स्थान पर गुणवत्तापूर्ण वर्कस्पेसेज़ उपलब्ध कराने की हमारी प्रतिबद्धता की पुष्टि करती है। हॉस्पिटेलिटी उद्योग में अपने अनुभव और क्षमता निर्माण में निवेश के चलते हमने हॉस्पिटेलिटी, हाउसिंग, रेंटल एवं बैंक्वेट सेवाओं के कारोबार में तेज़ी से विकास किया है। हमारा मानना है कि हम अब ऐसी स्थिति में हैं कि उन कोरपोरेट्स को उत्कृष्ट सेवाएं प्रदान कर सकते हैंए जो अपने लिए वर्कस्पेस की तलाश में हैं। मैं ओयो के परिवार में इनोव8 का स्वागत करता हूँ। इस साझेदारी में अविश्वसनीय क्षमता है।

डॉ रितेश मलिक संस्थापक इनोव8 ने कहा हमें खुशी है कि हम ओयो के गुणवत्तापूर्ण एवं खूबसूरत स्पेसेज़ के निर्माण के मिशन के साथ जुड़ने जा रहे हैं। इनोव8 की शुरूआत भी रियल एस्टेट के सभी रूपों को अपग्रेड और रूपान्तरित करने के मिशन के साथ की गई। मुझे यह बताते हुए बेहद खुशी का अनुभव का अनुभव हो रहा है कि हमने पिछले सालों में अपने इस लक्ष्य को सफलता से हासिल किया है। अब हम भारत के अन्य शहरों में और उसके बाद विश्वस्तरीय बाज़ारों में भी अपना विस्तार करना चाहते हैं। यह साझेदारी इस क्षेत्र में मौजूद अवसरों का लाभ उठाते हुए भारतीयों के लिए को.वर्किंग यानि एक साथ काम करने के अनुभव को सहज एवं सशक्त बनाएगी।