कांग्रेस और आम आदमी पार्टी अलोकतांत्रिक और नकारात्मक राजनीति करने लगे हैं-मनोज तिवारी
May 22, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो
नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के एक्जिट पोल भाजपा के पक्ष में आते देख कर बौखलाये विपक्ष के बयानों पर प्रतिक्रिया व्यक्ति करते हुये दिल्ली भाजपा अध्यक्ष  मनोज तिवारी ने कहा कि दिल्ली में विपक्ष का सूपड़ा साफ होते देख कांग्रेस और आम आदमी पार्टी अलोकतांत्रिक और नकारात्मक राजनीति करने लगे हैं। कुछ राजनीतिक लोग तो समाज में हिंसा होने तक का भ्रम फैलाने लगे हैं लेकिन कानून हाथ में लेने वालों के साथ सख्ती से निपटा जायेगा क्योंकि ये वही लोग हैं जब चुनाव परिणाम इनके पक्ष में आता है तो ईवीएम पूरी तरह से सही हो जाती है और हारने के बाद अपनी नाकामियों का ठीकरा ईवीएम पर फोड़कर उसके पीछे छुपने का प्रयास करने लगते हैं।
 
श्री मनोज तिवारी ने कहा कि दिल्ली में 2015 के विधानसभा चुनाव में 67 सीटें जीत कर भारी बहुमत से सत्ता में आने के बाद आम आदमी पार्टी ने उस समय ईवीएम पर कोई सवाल नहीं उठाये थे। लेकिन लोकसभा चुनाव में होने वाली संभावित हार को देखते हुये अपने कार्यकर्ताओं को हार के बाद आंदोलन करने की बात केजरीवाल कर रहे हैं जो जनादेश का अपमान है और संवैधानिक संस्थाओं पर हमला है। चुनावी प्रक्रिया खत्म होने के बाद जब एक्जिट पोल में भारतीय जनता पार्टी एवं उनके सहयोगियों की भारी सफलता का रूझान आया तब से टुकड़े-टुकड़े गैंक का समर्थन वाला पूरा विपक्ष एकजुट होकर अपनी नाकामियों का ठीकरा ईवीएम पर फोड़ने लगा। कांग्रेस ने इसी ईवीएम से दिल्ली में लगातार 15 साल विधानसभा के चुनाव जीतकर सरकार बनाई थी तब कोई भी राजनीतिक दल ने ईवीएम की विश्वसनियता पर सवाल नहीं उठाये थे। 
 
श्री तिवारी ने कहा कि हाल में हुये पांच राज्यों के चुनाव में कांग्रेस ने इन्हीं ईवीएम के माध्यम से चार राज्यों में सरकार बना ली तब समूचे विपक्ष को ईवीएम में कोई खराबी नजर नहीं आई थी। ईवीएम के संदर्भ में सर्वोच्च न्यायालय ने विपक्ष की दलीलों को खारिज करते हुये ईवीएम को सही ठहराया है। इसके बाद भी विपक्ष का ईवीएम को गलत ठहराना सर्वोच्च न्यायालय की अवमानना है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में जनादेश का सम्मान होना चाहिये, हार से बौखला कर किसी भी राजनीतिक दल को संवैधानिक संस्थाओं पर न तो हमला करना चाहिये और न ही कानून को अपने हाथ में लेना चाहिये, क्योंकि ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए संविधान में पर्याप्त कानून है। श्री तिवारी ने दिल्ली के मतदाताओं से अपील की है कि वे किसी भी राजनीतिक दल के भ्रम फैलाने पर विश्वास न करें और न ही किसी के बहकावे में आकर ऐसा कोई कदम न उठायें जो लोकतांत्रिक और अमर्यादित हो।