केजरीवाल ही है दिल्ली के सबसे बड़े दुश्मन- मनोज तिवारी
May 28, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने सभी अधिकारियों की बैठक कर कहा कि मोहल्ला क्लीनिक, सीसीटीवी, नई बसें जितने भी रूके हुये काम है उन्हें जल्द से जल्द किये जाये इस पर ट्विट कर भारतीय जनता पार्टी दिल्ली प्रदेश के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में सभी कामों को जानबूझ कर रोक रखा था और काम न करने का ठीकरा सोची समझी रणनीति के तहत केन्द्र सरकार पर लगाकर दिल्ली के लोगों के सामने आरोप प्रत्यारोप की झूठी राजनीति कर रहे थे अब यह स्पष्ट हो गया है।

श्री तिवारी ने कहा कि चुनाव के तुरन्त बाद अधिकारियों को रूके हुये काम करने का आदेश देने का मतलब साफ है कि दिल्ली के लिए मोहल्ला क्लीनिक, सीसीटीवी, नई बसों को जानबूझ कर रोका गया था। यदि केजरीवाल कहते है कि यह सारे काम सरकार की प्रक्रिया में थे तो सवाल यह उठता है कि उन्हें तुरन्त करने का आदेश अब क्यों दिया जा रहा है। स्पष्ट है अब दिल्ली विधानसभा चुनाव नजदीक है और लोकसभा चुनाव में दिल्ली की जनता द्वारा नकारे जाने के बाद विधानसभा में आम आदमी पार्टी को हार का डर सताने लगा है। अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए स्वंय के हाथों रोके गये कामों को चालू करावाने का ढोंग कर रहे है केजरीवाल जानते है कि दिल्ली की जनता जाग चुकी है और समझ गयी है कि जब देश में मोदी और दिल्ली में भाजपा की सरकार होगी दिल्ली के सारे काम सुचारू हो सकेगें।   

श्री तिवारी ने कहा कि प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी की सरकार ने 46 हजार करोड़ रूपये कि परियोजनाएं केवल दिल्ली को प्रदूषण मुक्त करने के लिए खर्च की है। इसके अलावा दिल्ली में आयुष्मान भारत योजना और प्रधानमंत्री आवास योजना लागू की गई जिसे केजरीवाल ने स्वार्थपरक राजनीति करने के कारण दिल्ली के लोगों को इन जनकल्याणकारी योजनाओं से वंचित कर दिया है जिसके लिए दिल्ली की जनता आम आदमी पार्टी को कभी माफ नहीं करने वाली है। सत्ता के लालच में केजरीवाल कुछ भी कर सकते है उसी का ताजा उद्दाहरण जल्दबाजी में अधिकारियों को काम करने का आदेश देना है।