गाजियाबाद की डीपीएस छात्रा हंशिका शुक्ला बनीं सीबीएसई की संयुक्त टॉपर
May 2, 2019 • कमलेश पांडे
गाजियाबाद। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 12 वीं की परीक्षा में गाजियाबाद के निजी स्कूलों की छात्र-छात्राओं ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए अखिल भारतीय स्तर पर पहला, बारहवां, चौदहवां और बाइसवां स्थान हासिल करते हुए लौह नगरी गाजियाबाद के फौलादी इरादों का परिचय दिया है। इससे समूचा महानगर खुशी से झूम उठा है। 
 
सीबीएसई द्वारा गुरुवार को घोषित किये गए नतीजों में दिल्ली पब्लिक स्कूल, मेरठ रोड गाजियाबाद की एक छात्रा हंशिका शुक्ला (प्रथम स्थान) और एक छात्र अर्पित माहेश्वरी (चौदहवां स्थान) ने, जबकि, सेठ आनंदराम जयपुरिया स्कूल, वसुंधरा सेक्टर 14 गाजियाबाद की दो छात्राओं यथा- ऐषणा जैन (बारहवां स्थान) व प्रज्ञा खरकवाल (बाइसवां स्थान) ने पूरे देश के 22 स्थानों में से 4 स्थानों को गाजियाबाद के नाम कर दिया है। जो कि अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करार दिया जा रहा है।
 
प्राप्त अंक तालिका के मुताबिक नेशनल टॉपर बनीं हंशिका शुक्ला को 499 और ऐषणा जैन, अर्पित माहेश्वरी और प्रज्ञा खरकवाल को एक समान 497 अंक प्राप्त हुए हैं। इससे छात्राओं व छात्रों के विद्यालय परिवार समेत उनके अपने माता-पिता, भाई-बहन सहित विभिन्न सगे-सम्बन्धियों में भी हर्ष की लहर दौड़ गई है।
सेठ आनंदराम जयपुरिया स्कूल की एक अन्य छात्रा श्रीति कश्यप ने भी 97 प्रतिशत अंक हासिल करके अपने विद्यालय और परिवार का नाम रोशन किया है। श्रीति के पिता रजनीश शर्मा वरिष्ठ अधिवक्ता हैं, जबकि माता आनंदिता शर्मा जयपुरिया इंस्टीट्यूट ऑफ बिजनेस मैनेजमेंट की प्रबंधकीय विषयों की निवर्तमान प्रोफेसर हैं।
 
सीबीएसई के परीक्षा परिणामों पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए सेठ आनंदराम जयपुरिया स्कूल, वसुंधरा सेक्टर-14 की प्रधानाचार्या डॉ मंजू राणा ने बताया कि गाजियाबाद के विभिन्न प्रतिष्ठित और सीबीएसई में रैंकिंग दर्ज करवाने वाले निजी स्कूलों से प्रतिस्पर्धा करते हुए उनके विद्यालय ने दो स्कूलों के कुल चार महत्वपूर्ण जनपदीय रैंकर्स में दो छात्राएं अपने विद्यालय से देकर जनपद का मान बढ़ाने में फिफ्टी परसेंट का समान योगदान दिया है। यह परीक्षाफल विद्यालय के विकास यात्रा में मील का पत्थर साबित हुआ है। एक बार फिर हमने शैक्षणिक गुणवत्ता के मामले में अपने विद्यालय को राष्ट्रीय स्तर पर स्थापित होते हुए देखा है, जो खुशी की बात है। उन्होंने कहा कि इससे पहले भी हमलोग अभिभावकों और छात्र-छात्राओं की उम्मीदों पर खरे उतरे हैं और अब यह सिलसिला आगे ही बढ़ेगा।
 
बता दें कि इस वर्ष कुल 83.4 प्रतिशत छात्र-छात्राएं पास हुए हैं जिसमें 88.7प्रतिशत लड़कियां और 79.4 प्रतिशत लड़के पास हुए हैं। इस बार डीपीएस गाजियाबाद की हंसिका शुक्‍ला ने पूरे भारत में पहला स्‍थान प्राप्‍त किया है। सीबीएसई की संयुक्त टॉपर बनीं डीपीएस, गाजियाबाद की हंशिका शुक्ला ने अपनी सफलता का श्रेय अपने अभिभावकों और शिक्षकों को दिया है। इस वरिष्ठ संवाददाता को उसने बताया कि अब वो मनोविज्ञान विषय से स्नातक प्रतिष्ठा की पढ़ाई करके सिविल सर्विस परीक्षा की तैयारी करेंगी और भारतीय विदेश सेवा के लिए उनका चयन हो, इसके लिए कड़ी मेहनत करेंगी। उनकी मां और एक सरकारी विद्यालय की शिक्षिका मीना शुक्ला ने बताया कि सेल्फ स्टडी में उसका भरोसा है और बहुआयामी विषयगत दृष्टिकोण रखकर उसने यह आशातीत सफलता हासिल की है, जिससे हमलोग प्रसन्नचित हैं। उसके पिता राज्य सभा सचिवालय में अधिकारी हैं।