जीके द्वारा अपने गुनाह छिपाने के लिए एक महिला को बदनाम करना शर्मनाक
May 31, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो

नई दिल्ली। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबन्धक की वरिष्ठ उपाध्यक्षा बीबी रणजीत कौर का कहना है कि गुरु की गोलक लूटने का आरोप झेलने वाले कमेटी के पूर्व अध्यक्ष मनजीत सिंह जीके द्वारा अपने गुनाहों का जवाब देने के बजाये उल्टा उन पर पर्दा डालने के लिए सिख कौम को गुमराह करने वाले ब्यान तो दिये ही जा रहे हैं पर अब उन्होंने एक महिला सदस्या पर बेबुनियाद ब्यानबाजी करके सभी महिलाओं के आत्म सम्मान पर प्रहार किया है। जीके स्वयं भी 2 बेटियों के पिता हैं उन्हें दूसरों की बेटियों की भी इज्जत करनी चाहिए पर अफसोस कि जीके अपने गरुर में सब भूल गये। 
बीबी रणजीत कौर ने कहा उनके किये कार्यों की जीके प्रशंसा करते नहीं थकते थे। 2017 में हुए दिल्ली कमेटी चुनाव जीतने के लिए भी उन्होंने रणजीत कौर टीम की जमकर तारीफ की थी क्योंकि उनके द्वारा पूरी रणनीति बनाकर पूरी दिल्ली ही नहीं बल्कि दिल्ली के बाहर भी सिख परिवारों के बच्चों को मानियोरिटी स्कीम के तहत करोंड़ों रुपये की फीस माफी करवाई, उसका पूरा लाभ पार्टी को चुनावांे में मिला। 
2013 में जब हमारी कमेटी आई उस समय मात्र 32 लाख रुपये की फीस माफी का लाभ सरकार से लिया जाता था, किसी को स्कीमों की जानकारी नहीं थी। मुझे जब मनजीत सिंह जीके द्वारा यह जिम्मेवारी सौंपी तो मैंने दिन रात मेहनत कर अपने साथ टीम जोड़कर पूरी दिल्ली में नोडल आफिसर बनाये। जगह जगह कैंप लगाये गये और लोगों को जागरुक किया जिसके बाद हजारों परिवारों को इसका लाभ मिला और हर साल करोड़ांे रुपये की फीस सिख बच्चों की माफ हुई जिस कारण लोग हमारे पार्टी के साथ हुए थे। उन्होंने कहा मैं एक अध्यापिका हूं और शायद इकलोती सदस्या भी हूं जो कि अपने स्कूल में बच्चों को पढ़ाने के पश्चात कमेटी का और पार्टी का काम भी करती हूं। 
उन्होंने बताया कि दिसम्बर तक सब कुछ ठीक ठाक चल रहा था पर जैसे ही जीके के घौटालांे के बारे में कमेटी को पता चला और उस पर कार्यवाई की तैयारी हुई तभी से जीके और उनके चमचों द्वारा बिना वजह मुझे बदनाम करने का सिलसिला शुरु हुआ। संजीव कुमार मामले में भी मेरा नाम जानबूझ कर उछाला गया जबकि सच्चाई यह है कि दिन भर में सैंकड़ों कमरों की सिफारिश सदस्यों द्वारा की जाती है पर उनके दस्तावेज लेकर कमरे देना स्टाफ का काम है ना कि सदस्यों का।
बीबी रणजीत कौर ने मनजीत सिंह जीके को महिला शक्ति से माफी मांगने के साथ साथ यह भी सलाह दी कि वह अपने किये गुनाहों से बच नहीं सकते दिल्ली की संगत उन्हें कभी माफ नहीं करेगी। उन्होंने कहा जीके साहिब आप महिला का सम्मान नहीं कर सकते तो उन पर कटाक्ष करने का भी आपको कोई अधिकार नहीं हैं।
बीबी रणजीत कौर ने कहा मनजीत सिंह जीके की आड़ में कुछ शरारती तत्व भी सोशल मीडीया पर सक्रिय हो गये हैं जिनका मकसद किसी भी तरह से दिल्ली कमेटी की छवि को खराब करना है जिसका ताजा उदारहण आज देखने को मिला जब कमेटी की धर्म प्रचार के पूर्व चेयरमैन परमजीत सिंह राणा की फोटो मनजीत सिंह जीके के साथ लगाकर जत्थेदार हित की फोटो लगाई गई और उसे भी इस विवाद में घसीटा गया जबकि जत्थेदार हित ने साफ किया कि उनके द्वारा ऐसा कोई पोस्टर नहीं निकाला गया राणा हमेशा से ही कमेटी के वफादार सिपाही रहे हैं जीके ने पहले भी अपनी पार्टी बनाकर अकाली दल के कुछ सदस्यों को अपने साथ मिलाया था जब राणा तब भी पार्टी में बने रहे और आज भी पार्टी में हैं।