डीएम ने पूर्व में तैनात रहे सभी असलहा बाबुओं की जांच के दिए निर्देश
September 5, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो
गाजियाबाद। शस्त्र लाइसेंस ट्रांसफर मामले को लेकर गुरुवार को डीएम अजय शंकर पाण्डेय ने बड़ा निर्णय लेते हुए पूर्व में जनपद में तैनात रहे सभी असलहा बाबूओं की जांच के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा, डीएम ने वर्ष 2012 से अब तक के सभी असलहा से सम्बंधित रजिस्ट्ररों को सील कर उनकी जांच के निर्देश सिटी मजिस्ट्रेट व विवेचक एसओ कविनगर अनिल कुमार शाही को दिए हैं। इतना ही नहीं, अब प्रत्येक दिन जांच टीम एक रजिस्ट्रर की जांच करेगी।
 
जिलाधिकारी डॉ पांडेय ने इस मामले में वर्तमान में और पूर्व में तैनात सभी असहला बाबूओं के कार्यकाल की जांच के निर्देश जारी किए हैं। बताया जाता है कि शाहजहांपुर के शस्त्र लाइसेंस ट्रांसफर मामले में फर्जी लाइसेंस दिए जाने के खेल का खुलासा होने पर डीएम ने आज विवेचक को इस मामले में कड़े निर्देश जारी किए हैं। उन्होंने असलहा विभाग में मौजूद वर्ष 2012-17 के सभी रजिस्ट्रर को सील करने के निर्देश दिए हैं। 
 
असलहा विभाग में पहुंचे सिटी मजिस्ट्रेट व एसओ कविनगर ने डीएम के निर्देश पर वहां फाइलों की जांच की। विवेचक अब हर दिन एक रजिस्ट्रर की जांच करेंगे। ऐसे कुल 90 रजिस्ट्रर हैं जिनकी जांच की जानी है। इन रजिस्ट्ररों की जांच से और भी इस तरह के मामलों का खुलासा होने की  सम्भावना है। यही वजह है कि डीएम ने इस मामले में जांच रिपोर्ट भी जल्द ही तलब की है। डीएम के इस निर्देश से विभाग में हड़कम्प मच गया है।