दिल्ली की सात सीटों पर 164 उम्मीदवार आमने -सामने
April 26, 2019 • राकेश रमण
 
#नाम वापिसी के अंतिम दिन 9 उम्मीदवारों ने छोड़ा मैदान 
दिल्ली के सातों संसदीय क्षेत्रों में चुनाव प्रत्याशी के रूप में नामांकन पत्र भरने वाले 173 उम्मीदवारों में से नौ उम्मीदवारों ने शुक्रवार को मैदान छोड़ दिया। ये सभी निर्दलीय (पांच) और गैर मान्यता प्राप्त दलों के (चार) उम्मीदवार हैं। इससे जहां आप व कांग्रेस के मध्य गठबंधन को लेकर चल रही तमाम अटकलों पर रोक गई है। वहीं, दिल्ली का सियासी माहौल गर्मा गया है। गौरतलब है कि आगामी 12 मई को दिल्ली में मतदान होना है जिसके लिए नामांकन की प्रक्रिया जारी है। इस संबंध में नाम वापस लेने के लिए आज का दिन निर्धारित किया गया था जिसके चलते नौ उम्मीदवारों ने नाम वापिस ले लिया है। 
 
दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय से प्राप्त जानकारी के मुताबिक लोकसभा की सात सीटों पर अब 164 उम्मीदवार रह गए हैं। इनमें भारतीय जनता पार्टी, आम आदमी पार्टी और कांग्रेस पार्टी जैसे मान्यता प्राप्त दलों के सात- सात प्रत्याशी भी शामिल हैं। दिल्ली के सातों जिला निर्वाचन कार्यालयों से प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक चांदनी चौक संसदीय क्षेत्र में 26 और नई दिल्ली संसदीय क्षेत्र में 27 उम्मीदवार अपना भाग्य आजमाएंगे और चुनाव लड़ेंगे। यहां से किसी भी उम्मीदवार ने नाम वापिस नहीं लिया है। वहीं, 
उत्तरी पूर्वी दिल्ली से दो, पूर्वी दिल्ली से एक, उत्तरी -पश्चिमी दिल्ली से दो, पश्चिमी दिल्ली से एक और दक्षिणी दिल्ली से तीन उम्मीदवारों ने अपने नाम वापिस लेने की घोषणा संबंधित जिला कार्यालयों में की है। अब शनिवार से चुनाव प्रचार अभियान तेज हो जाएगा जो आगामी 10 मई यानि मतदान से 48 घंटे पूर्व तक जारी रहेगा।दिल्ली के सातों संसदीय क्षेत्रों में 26 उम्मीदवार चाँदनी चौक से तो उत्तरी -पूर्वी दिल्ली व् पूर्वी दिल्ली से क्रमशः 24  व 26 उम्मीदवार मैदान में हैं।यहां की प्रतिष्ठित नई दिल्ली से भी 27 उम्मीदवार हैं तो उत्तरी पश्चिमी दिल्ली से 11 तो पश्चिमी दिल्ली से 23 उम्मीदवार व् दक्षिणी दिल्ली से 27 उम्मीदवार  मैदान में हैं।