दिल्ली में दिखा पूरा पूर्वोत्तर भारत
September 8, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो

              # सांस्कृतिक और संगीतमय कार्यक्रमों की रही धूम

दिल्ली। दिल्ली के जवाहर लाल नहेरु स्टेडियम में माई होम इंडिया  द्वारा आयोजित नेस्ट .फेस्ट 2019ष कार्यक्रम में पूर्वोत्तर राज्यों के नूतन छात्रों का स्वागत किया गया। इस सांस्कृतिक व संगीतमय कार्यक्रम में मुख्य अतिथि लोकसभा स्पीकर ओम विरला ने पूर्वोत्तर के छात्रों के लिये लोकसभा में छात्र संसद के लिये आमंत्रित किया। जहां वो अपनी समस्याएं और सुझाव रख सकते हैं। उत्तर पूर्वी राज्यों के लोगों का आभार व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि आप लोग भारत की सीमाओं के प्रहरी हैं। साथ ही अपनी सांस्कृतिक धरोहर को भी सहज कर रखते हैं।
दिल्ली में पूर्वोत्तर के लगभग साढ़े 3 लाख छात्र रहते हैं। जो पूर्वोत्तर की सँस्कृतिए संस्कार और सभ्यता के दूत हैं। ओम बिरला ने विद्यार्थियों का आह्वान करते हुये कहा कि लोकतंत्र को मजबूत करने के लिये एकजुट हों और राष्ट्र के विकास में सकारात्मक भूमिका भूमिका निभायें।
भारत सरकार के खेल मंत्री  किरण रिजिजू जी ने माय होम इंडिया द्वारा आयोजित नेस्ट फेस्ट  2019 के अवसर पर पूर्वोत्तर भारत के छात्रों को संबोधित करते हुये कहा कि दुनिया के कई देशों के नागरिक अपने ही देश में मौलिक अधिकारों के लिये संघर्ष कर रहे हैं। लेकिन भारत दुनिया के उन कुछ देशों में से एक है जहां नागरिकों को सभी और समान अधिकार है। 
वर्तमान सरकार बहुत परिश्रम से पूर्वोत्तर भारत के लिये काम कर रही है। पूर्वोत्तर राज्य  के लोगों को आज सरकार से कुछ मांगना नहीं पड़ता बल्कि आज सरकार नॉर्थ ईस्टर्न लोगों से पूछती है कि उन्हें क्या चाहिए।
मोदी जी सभी मंत्रालय से लगातार प्रोग्रेस रिपार्ट लेते हैं कि पूर्वोत्तर के लिए क्या काम किये गये हैं। पूर्वोत्तर बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है। 
इस अवसर पर भारत सरकार के खाद्य एवं प्रसंस्करण राज्य मंत्री रामेश्वर तेली ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी अक्सर बोलते हैं कि पूर्वोत्तर आर्गेनिक खेती का हब है। 
2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लिये सरकार प्रतिबद्धता से काम कर रही है। आठों प्रदेशों में मेगा फ़ूड पार्क के लिये जगह देखी जा रही है। साथ ही सरकार किसानों को इसके लिए बड़ी सब्सिडी भी देगी।

माई होम इंडिया के संस्थापक सुनील देवधर ने पूर्वोत्तर राज्यों की क्षेत्रिये भाषाओं में अभिवादन किया और कार्यक्रम के स्वरूप को देखते हुए पूर्वोत्तर राज्य की क्षेत्रिय भाषा में गाना गाकर उनको नई भाषा सीखने के लिये प्रोत्साहित किया । यह जानकर हैरानी नहीं होगी कि सुनील देवधर को पूर्वोत्तर भारत की कई क्षेत्रिय भाषाएं सहज रूप से बोलना आती हैं । 

माई होम इंडिया के संस्थापक ने इस अवसर पर संस्था की 24X 7 घंटे चलने वाली हेल्पलाइन के बारे में बताया और कहा कि संस्था आपको आश्वासन देती है कि आप हमें कॉल करेंगे तो हम आपकी मदद करने के लिये 1 घंटे के अंदर में आप तक पहुंचेगे और आपकी हर संभव मदद करेंगे । 

इसके साथ ही उन्होंने नेस्ट.फेस्ट के आयोजन के पीछे का उद्देश्य बताते हुए कहा कि माय होम इंडिया नेस्ट.फेस्ट महोत्सव शेष भारत के लोगों को पूर्वोत्तर भारत के लोगों से जोड़ने के लिये आयोजित करती है और उन्हें पूर्वोत्तर की संस्कृति से परिचित कराने का भी कार्य करती है । 

पूर्वोत्तर भारत के संदर्भ में बोलते हुए कहा कि मोदी सरकार की सक्रियता और जागरूकता अभियान के चलते पिछले 5 सालों में भारत के दूसरे हिस्सों में पूर्वोत्तर के छात्रों के साथ होने वाले भेदभाव और दुर्घटनाओं में बहुत कमी आयी है। 
 
देवधर जी ने शेष भारत के लोगों से अपील करते हुए कहा है कि पूर्वोत्तर भारत हमारे हृदय में होना चाहिए और वर्ष में एक बार हमें वहां अवश्य जाना चाहिए । 

जवाहरलाल नेहरु स्टेडियम में अपने भाषण में मणिपुर के औद्योगिक मंत्री विश्वजीत सिंह ने कहा कि युवा ही देश की शक्ति है। राष्ट्र को मजबूत बनाने के लिये सभी युवाओं को आगे आना चाहिये।हम सब एक हैं। हम सब भारतीय हैं। हमें कभी भी आपस में लड़ना नहीं है।
अरुणाचल प्रदेश के कैबिनेट मंत्री ताबा तेदिर  ने छात्रों से कहा कि आप नार्थ ईस्ट की संस्कृति के ब्रांड अम्बेसडर हैं इसलिये अपने कार्यों से देश के दूसरे हिस्सों में भी पूर्वोत्तर की छवि को मजबूत बनाने का काम करें।

संजय राय ने कहा कि रोजगार सृजन की शुरुआत अब गांवों से शुरु हो चुकी है। पूर्वोत्तर में फूलों की खेती करके महिलाएं साल में ढाई लाख रुपये तक आराम से कमा रही हैं। मंदी नहीं हुयी बल्कि मोड ऑफ बिजनेस बदल गया है। 

माई  होम इंडिया पूर्वोत्तर के छात्रों को शेष भारत से जोड़ने के लिए कई कार्यक्रम चलाते हैं।ये संस्था नार्थ ईस्ट के नूतन छात्रों के स्वागत के लिए देश के कई हिस्सों में पिछले कई सालों से नेस्ट  फेस्ट कार्यक्रम आयोजित करती आयी है।

त्रिपुरा के 12 साल के अगंशुमान नंदी ने ड्रम बजाया तो पूरा स्टेडियम झूम उठा। अरुणाचल प्रदेश के सिंगर तावा चाकी मणिपुर के गायक गुरु रिवेन की गानों पर युवा जमकर थिरके। आसाम की जुवली बरुआ और नागालैंड की मेंगू शौकरी नागालैंडने अपनी आवाज से कार्यक्रम में समा बांधा।

इस सांस्कृतिक कार्यक्रम में उत्तर पूर्व के सभी राज्यों के संस्कृतियों की झलक देखने को मिली। पूर्वोत्तर राज्यों के सभी प्रदेशों के विद्यार्थियों ने परम्परागत परिधानों में अपने अपने प्रदेशों के सांस्कृतिक नृत्य पेश किये।