नगर आयुक्त दिनेश चंद्र के औचक निरीक्षण में फिर लगी लापरवाह अधिकारियों को फटकार
May 7, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो
# मेसर्स शर्मा कूलर और उत्तम हॉस्पिटल से 20 हजार रुपये अर्थदंड वसूले गए
 
# विजयनगर जोन की साफ-सफाई के औचक निरीक्षण में कई अतिक्रमणकारियों की पर गिराई गाज
 
गाजियाबाद। नगर आयुक्त दिनेश चंद्र ने विजयनगर जोन के विभिन्न क्षेत्रों की साफ-सफाई व्यवस्था का औचक निरीक्षण किया। अहले सुबह वे सदलबल सम्राट चौक, विश्वकर्मा चौक, थाना विजयनगर मार्ग, भूडभारत नगर आदि की साफ-सफाई व्यवस्था का जायजा लिया। उसके बाद, नगर निगम द्वारा संचालित नन्दी पार्क का भी निरीक्षण किया।
 
इस क्रम में उन्होंने देखा कि वरदान के सामने मैसर्स शर्मा कूलर द्वारा नाला पाटकर अवैध रूप से अतिक्रमण किया गया है, जिस पर उन्होंने विजयनगर जोन की जोनल प्रभारी श्रीमती सरिता सिंह को मौके पर ही निर्देशित किया कि तत्काल उक्त अवैध अतिक्रमण को हटाया जाये और नाले को पाटने से सफाई कार्य में आ रहे व्यवधान के अन्तर्गत सम्बन्धित प्रतिष्ठान को नियमानुसार नोटिस जारी कर अर्थदण्ड वसूलने की कार्यवाही प्रारम्भ की जाये। जिसके बाद बिना समय गंवाए जोनल प्रभारी (विजयनगर) द्वारा मैसर्स शर्मा कूलर एवं अन्य दो दुकानदार जिनके द्वारा अतिक्रमण किया हुआ था, से कुल अंकन रूपये 15,000/- का जुर्माना वसूला गया। 
    
विजयनगर जोन स्थित विश्वकर्मा चौक के निरीक्षण के समय वहां पर नाले के ऊपर रिक्शा चालकों द्वारा रिक्शा स्टैण्ड बनाया गया है, जिसके चलते नाला अवरूद्ध रहता है क्योंकि उसकी समुचित सफाई नहीं हो पाती है। लिहाजा, सफाई व्यवस्था को समुचित बनाये रखने हेतु नगर आयुक्त द्वारा जोनल प्रभारी (विजयनगर) को मौके पर ही निर्देशित किया गया कि इस अवैध रिक्शा स्टैण्ड को तत्काल इस स्थल से हटाकर नाले की समुचित सफाई सुनिश्चित करायी जाये। 
 
इस दौरान नगर आयुक्त ने उत्तम हॉस्पिटल द्वारा सड़क  किनारे मेडिकल वेस्ट, खाने-पीने की सामग्री व अन्य कूड़ा-कचरा मिक्स कर सड़क किनारे डालकर गन्दगी फैलाई गई थी। यही नहीं, उत्तम हॉस्पिटल द्वारा उत्सर्जित मेडिकल वेस्ट का पृथक्कीकरण भी नहीं किया जा रहा है जो ठोस अपशिष्ट प्रबन्धन नियमावली का स्पष्ट उल्लंघन है। यही वजह है कि नगर आयुक्त ने जोनल प्रभारी को कड़े निर्देश दिये गये कि अविलम्ब उत्तम हॉस्पिटल के मालिक पर सड़क किनारे मेडिकल वेस्ट, सॉलिड वेस्ट डालकर गन्दगी फैलाने के सापेक्ष नोटिस निर्गत कर अर्थदण्ड वसूलने की कार्यवाही की जाये। जिसके क्रम में जोनल प्रभारी (विजयनगर) द्वारा उक्त हॉस्पिटल से रूपये 5,000/- का जुर्माना वसूला गया। 
    
इसके अलावा, नगर आयुक्त ने पाया कि सम्बन्धित क्षेत्रों में साफ-सफाई का कार्य कर्मचारियों द्वारा किया जा रहा था, परन्तु कई स्थानों पर नालें की सफाई के दौरान निकाली गयी सिल्ट उसके किनारों पर ही पायी गयी, जिसका स्थल से उठान नहीं हुआ था। इस पर नगर आयुक्त ने जोनल प्रभारी एवं क्षेत्रीय सफाई नायकों को निर्देशित किया कि नालों व नालियों की सफाई कराने उपरान्त उनसे निकली सिल्ट का ससमय उठान करा लिया जाये, ताकि सिल्ट पुनः नाले में न गिरने पाये। 
साथ ही नगर आयुक्त द्वारा क्षेत्रीय जोनल प्रभारी को मौके पर ही निर्देशित किया कि सायं के समय विभिन्न क्षेत्रों में तिथिवार फौगिंग अभियान चलाया जाये ताकि नागरिकों को मच्छर जनित बीमारियों से बचाया जा सके। 
 
नगर आयुक्त द्वारा सभी जोनल प्रभारियों को दूरभाष से निर्देशित किया गया कि सार्वजनिक स्थलों, सरकारी सम्पत्तियों पर अवैध रूप से प्रचार-प्रसार सम्बन्धी सामग्री चस्पा करने वालों के विरूद्ध अर्थदण्ड वसूलकर नियमानुसार अभियोग दर्ज कराना सुनिश्चित करें।
    
नगर आयुक्त द्वारा राजनगर एक्सटेंशन स्थित नगर निगम द्वारा संचालित नन्दी पार्क में गौवंशों की सुविधा के दृष्टिगत चल रहे कार्यो का निरीक्षण किया गया। इस दौरान उन्होंने पाया कि कार्य अत्यन्त धीमी गति से चल रहा था। इस पर नगर आयुक्त द्वारा सम्बन्धित अवर अभियन्ता (सिविल) कपिल मोहन को फटकार लगाते हुए निर्देशित किया कि एक सप्ताह के अन्दर कार्य पूर्ण कर अवगत कराएं, अन्यथा कार्यों में शिथिलता बरतने के कारण सम्बन्धित के विरूद्ध विभागीय कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। 
 
इसी क्रम में नगर आयुक्त द्वारा घोर रोष व्यक्त करते हुए मौके पर उपस्थित मुख्य अभियन्ता मोइनुद्दीन, सह प्रभारी नन्दी पार्क सूरजपाल वार्ष्णेय को कड़े निर्देश दिये कि निर्धारित समयावधि में उक्त निर्माण कार्यों को पूर्ण कराया जाये, अन्यथा विवश होकर उनके विरूद्ध भी विभागीय कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।