नगर आयुक्त दिनेश चंद्र ने ठोस अपशिष्ट के निस्तारण के लिए दुहाई में चिन्हित किया स्थल
May 1, 2019 • कमलेश पांडे
# लगभग सात स्थलों के भौतिक निरीक्षण के बाद किया दुहाई के समीपस्थ स्थल का चयन
# अपर नगर आयुक्त प्रमोद कुमार को अन्य औपचारिकताएं शीघ्र पूरे करने के दिये निर्देश ताकि 24 घण्टे के भीतर यहां बेरोकटोक पहुंचने लगें कूड़े वाली गाड़ियां
गाजियाबाद। नगर आयुक्त दिनेश चन्द्र ने अपर नगर आयुक्त सह प्रभारी स्वास्थ्य विभाग प्रमोद कुमार के साथ नगर निगम के ठोस अपशिष्ट का निस्तारण करने हेतु स्थल का चयन किया। बुद्धवार की सुबह दोनों अधिकारी ठोस अपशिष्ट के निस्तारण की फिक्र लिए गोविन्दपुरम, सिहानी, नूरनगर, मोरटा, मोरटी, दुहाई और बसंतपुर सैतली आदि क्षेत्रों का निरीक्षण किया। जिसके बाद दुहाई के निकट एक स्थल को चयनित कर लिया गया, जो आबादी से दूर है और उक्त स्थल पर कूड़े को पृथक्कीकरण करते हुए गीले कूड़े को त्यक्त भूमि-भरण करने में किसी भी प्रकार का कोई विरोध कदापि नहीं होगा। 
    
बता दें कि ठोस अपशिष्ट प्रबन्धन नियमावली 2016 के अन्तर्गत अपशिष्ट का निस्तारण केवल निर्दिष्ट सेनेटरी लैंडफिल स्थल पर सुनिश्चित किया जा सकता है, जिसमें मात्र अनुपयोगी, पुनर्चक्रण-अयोग्य, जैव अविघटनीय, अ-दहनशील और अक्रियाशील अक्रिय अपशिष्ट तथा अपशिष्ट प्रसंस्करण इकाई द्वारा पूर्व-प्रसंस्करण त्यक्त व अवशिष्ट अंशों को ही लिया जाये। इसके तहत क्षेपण स्थलों की जैव-खुदाई (बायो-माइनिंग) व जैव-उपचारण (बायो-रेमेडिएशन) क्षमता न होने की स्थिति में इन स्थलों को लैंडफिल कैपिंग मानकों के अनुसार वैज्ञानिक तरीके से ढंक दिया जाना चाहिये, जिससे कि इसके द्वारा पर्यावरण को हो सकने वाली किसी भी क्षति को रोका जा सके। 
 
इस दौरान नगर आयुक्त दिनेश चंद्र ने अपर नगर आयुक्त  प्रमोद कुमार को निर्देशित किया कि वे आज ही उक्त स्थल पर ठोस अपशिष्ट निस्तारण करने हेतु समस्त सम्बन्धित औपचारिकताएं व प्रक्रियाएं पूर्ण करा लें ताकि तत्काल शहर के कूड़े को निस्तारित किया जा सके।