नगर आयुक्त दिनेश चंद्र ने सिटी जोन व मोहननगर जोन में सफाई व्यवस्था का किया निरीक्षण
June 20, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो
गाजियाबाद। बुद्धवार को प्रातः पौने आठ बजे नगर आयुक्त दिनेश चन्द्र ने सिटी जोन एवं मोहननगर जोन के विभिन्न क्षेत्रों की साफ-सफाई व्यवस्था का औचक निरीक्षण किया। सिटी जोन में नालों की सफाई का निरीक्षण के समय उन्होंने पाया कि नालों से निकाली गयी सिल्ट का उठान समय से नहीं हो पा रहा है। इसके अलावा, कुछ नाले मानक के अनुरूप साफ नहीं हुये थे। 
 
नगर आयुक्त द्वारा प्रा. नगर स्वास्थ्य अधिकारी सिस व ट्रांस हिण्डन एवं सफाई निरीक्षकों को दूरभाष के माध्यम से निर्देशित किया कि शहर के समस्त नाले जिनकी सफाई नगर निगम द्वारा करायी जा रही है, उनकी मानक के अनुरूप सफाई कराकर ससमय सिल्ट का उठान कराया लिया जाये, जिससे नाले की सिल्ट पुनः नाले में न गिरने पाये। साथ ही, नालों की सफाई सम्बन्धी फोटो व वीडियो जिओटेग के माध्यम से कराना सुनिश्चित करें।   
 
फिर, नगर आयुक्त ने मोहननगर जोन स्थित सिकन्दरपुर में नगर निगम द्वारा बने सी.टी.का निरीक्षण किया। इस  समय पब्लिक टायलेट का ताला बन्द पड़ा था तथा उसके बाहर सड़क किनारे पानी भरा हुआ था। नगर आयुक्त ने क्षेत्रीय सफाई निरीक्षक को निर्देशित किया  कि तत्काल उक्त पब्लिक टायलेट का ताला खुलवाकर उसकी समुचित साफ-सफाई कराकर समुचित व्यवस्था करा दी जाये। साथ ही, उक्त सी.टी. बन्द क्यों था, के सम्बन्ध में उत्तरदायित्व निर्धारित करते हुए अपनी आख्या प्र. नगर स्वास्थ्य अधिकारी एवं अपर नगर आयुक्त के माध्यम से प्रेषित करें। 
 
नगर आयुक्त ने अतिरिक्त प्रा. स्वास्थ्य अधिकारी सिस व ट्रांस हिण्डन एवं समस्त सफाई निरीक्षकों को दूरभाष पर निर्देश दिये कि नगर निगम द्वारा निगम सीमान्तर्गत बनाये गये सी.टी.पी.टी. का समय-समय पर स्थलीय निरीक्षण कर समस्त व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाये तथा निरीक्षण आख्या नोडल अधिकारी एस.बी.एम. एवं अपर नगर आयुक्त को प्रेषित करें। 
 
शहर के निरीक्षण के समय कुछ स्थानों पर नगर निगम द्वारा स्थापित हरी व नीली डस्टबिन्स फ्रेम से निकल कर गिर गयी अथवा क्षतिग्रस्त हो गयी हैं। इस सम्बन्ध में अपर नगर आयुक्त एवं प्र. नगर स्वास्थ्य अधिकारी सिस व ट्रांस हिण्डन को निर्देशित किया कि वे ऐसी डस्टबिन्स के स्थल चिन्हित कर अविलम्ब उनके चिन्हित स्थान पर स्थापित कराएं।  
 
नगर आयुक्त ने प्रभारी वाहन एवं प्र. नगर स्वास्थ्य अधिकारी सिस व ट्रांस हिण्डन को निर्देशित किया कि वे नगर निगम की सभी रोड स्वीपिंग मशीनों का परीक्षण कर यह सुनिश्चित कर लें कि कोई भी मशीन खराब न हो। साथ ही, मार्गों व डिवाईडरों के किनारों की समुचित सफाई व्यवस्था हेतु तिथिवार, जोनवार, मार्गवार स्वीपिंग मशीनों का रोस्टर तैयार कर अवगत कराएं। 
 
हिण्डन नदी के ऊपर सिटी जोन से मोहननगर की ओर आन-जाने वाली सड़क पर गन्दगी व्याप्त थी। इस पर नगर आयुक्त द्वारा क्षेत्रीय सफाई निरीक्षक सिटी जोन व मोहननगर जोन को दूरभाष पर निर्देशित किया गया कि अविलम्ब उक्त मार्ग की समुचित सफाई कराकर अवगत कराया जाये। 
 
पसौंडा के निरीक्षण के समय करण गेट चौकी के पास का नाला अवरूद्ध होने के कारण भरा पड़ा था जिस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए क्षेत्रीय सफाई निरीक्षक को नगर आयुक्त निर्देशित किया गया कि अविलम्ब उक्त नालें की मानक के अनुरूप सफाई कराकर उसकी सिल्ट का ससमय उठान करा लिया जाये तथा नालें की सफाई से पूर्व एवं सफाई कार्य होने उपरान्त की जीओटेग फोटो सहित आख्या जोनल सैनेट्री आफिसर के माध्यम से प्रेषित की जाये। 
        
मोहननगर स्थित हिण्डन एयरफोर्स स्टेशन चौराहे से पसौंडा तक सड़क किनारे नगर निगम द्वारा जो पत्थर लगवाने का कार्य किया जा रहा है। वह काफी धीमी गति से चल रहा है। इस पर नगर आयुक्त द्वारा मुख्य अभियन्ता एवं क्षेत्रीय अवर अभियन्ता सिविल को निर्देशित किया गया कि कार्य में तेजी लाते हुए ससमय कार्य सम्पन्न करा कर अवगत कराया जाये। 
 
सिकन्दरपुर स्थित सिविल टर्मिनल रोड का निर्माण पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा कराया गया है तथा नगर निगम द्वारा उक्त मार्ग के किनारे वृक्षारोपण कराया गया है। परन्तु गत दिनों हुई बरसात के कारण उक्त मार्ग के किनारे की कुछ मिट्टी बैठक गयी है, जिससे 2-3 वृक्ष गिर गये हैं। नगर आयुक्त द्वारा प्रभारी उद्यान एवं मुख्य अभियन्ता को निर्देशित किया गया कि पीडब्ल्यूडी विभाग से समन्वय स्थापित कर उक्त मार्ग के किनारों की ऐसी व्यवस्था करा ली जाये, ताकि बरसात के मौसम में सड़क किनारे की मिट्टी कटाव से वहां पर लगे पौधों व वृक्षों को किसी भी प्रकार की क्षति न पहुंचे। 
     
नगर निगम सीमा में अवैध रूप से चल रही डेयरी संचालकों द्वारा उत्पन्न हो रही समस्याओं के दृष्टिगत नगर आयुक्त द्वारा प्रभारी नगर स्वास्थ्य अधिकारी सिस व ट्रांस हिण्डन को दूरभाष के माध्यम से निर्देशित किया  कि वे अवैध रूप से संचालित डेयरियों को चिन्हित कर तिथिवार व जोनवार अभियान चलाकर अविलम्ब बन्द कराते हुए नगर निगम को अवैध डेयरी से पहुंच रही क्षतिपूर्ति भी डेयरी संचालकों से की जाये।
  
शहर की सफाई व्यवस्था के निरीक्षण के समय संज्ञान में आया कि वार्डों की सफाई व्यवस्था के लिये जो 2-2 वार्डों हेतु अधिकारी, अभियन्ता, निरीक्षक व कर्मचारियों की तैनाती की गयी हैं, वे समय से वार्डों की सफाई व्यवस्था का निरीक्षण नहीं कर रहे हैं। इस पर रोष व्यक्त करते हुए नगर आयुक्त द्वारा नगर निगम के 100 वार्डों में तैनात समुचित सफाई व्यवस्था हेतु तैनात अधिकारी, अभियन्ता, निरीक्षक व कर्मचारियों को निर्देशित किया  कि वे समय से आवंटित वार्डों में पहुंचकर सफाई व्यवस्था का निरीक्षण कर उसकी आख्या नोडल अधिकारी एसबीएम व प्रभारी एसबीएम व उनके कार्यालय में उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। भविष्य में निरीक्षण के दौरान यदि सम्बन्धित अधिकारी/अभियन्ता, निरीक्षक, कर्मचारियों व वार्डों में सफाई निरीक्षक करते नहीं पाये जाते हैं तो उनके विरूद्ध नियमानुसार विभागीय कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।