नगर निगम परिसर में पुलिस तैनात, शांतिपूर्वक चला धरना
August 24, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो
           # नोटिस से सहमे हड़ताली कर्मचारी, भाषणबाजी बंद
गाजियाबाद। नगर निगम में शनिवार को भी नगर निगम कर्मचारी संघ की अगुवाई में धरना जारी रहा। हालांकि निगम प्रशासन के नोटिस का यह असर दिखाई दिया कि आज संघ कर्मचारियों ने भाषणबाजी नहीं की। उधर, नगर निगम परिसर में पुलिस तैनात कर दी गई। पुलिस के एक दर्जन जवानों को तैनात किया गया है। 
 
वहीं, नगर निगम कर्मचारी संघ के अध्यक्ष का कहना है कि किसी भी सूरत में नगर निगम परिसर को खाली नहीं करेंगे। उनका कहना है कि रजिस्टर्ड यूनियन है और धरना निगम परिसर में ही चलेगा। गौरतलब है कि नगर निगम प्रशासन ने गुरुवार को नगर निगम कर्मचारी संघ अध्यक्ष हरेंद्र नागर को नोटिस जारी कर धरने को परिसर से बाहर ले जाने को कहा था। इस मामले ने इतना तूल पकड़ा कि संघ के अध्यक्ष को लिखित में जवाब देना पड़ा। निगम अध्यक्ष ने स्पष्ट कर दिया कि किसी भी सूरत में नगर निगम परिसर को खाली नहीं किया जाएगा, धरना यहीं चलेगा।
 
उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को अवकाश का दिन था। इसलिए सबकुछ शांत रहा। लेकिन आज शनिवार को कार्यालय खुलते ही नगर निगम कर्मचारी संघ का धरना जारी रहा, लेकिन नगर निगम प्रशासन ने परिसर में पुलिस तैनात कर दी। आशंका थी कि पुलिस हड़ताली निगम कर्मचारियों को परिसर में नहीं घुसने नहीं देगी, लेकिन यह टकराव नहीं हुआ। 
 
उधर, निगम कर्मचारी संघ निगम के नोटिस से सहम गया। इसी के चलते गुरुवार की तरह परिसर में हड़ताली कर्मचारियों ने भाषणबाजी नहीं की। हड़ताली कर्मचारियों ने सबसे पहले गुरुवार को मैनहोल में गिरने से पांच मजदूरों की हुई मौत के मामले में श्रद्घांलजि दी और दो मिनट का मौन रखकर उनकी आत्मशांति की कामना की। धरना देने वालों में संजय शर्मा, यशपाल त्यागी, अनिल त्यागी, हरेंद्र नागर आदि शामिल हुए।