नागमणि के आरोपों पर बोले उपेंद्र कुशवाहा- हां, लिए थे पैसे
March 14, 2019 • राकेश रमण

पटना। राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के अध्यक्ष व केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में मंत्री रहे उपेंद्र कुशवाहा पर उनकी पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष रहे नागमणि व पूर्वमहासचिव प्रदीप मिश्रा ने चुनाव में टिकट बेंचने सहित अन्य कई गंभीर आरोप लगाए हैं। इसपर कुशवाहा कुशवाहा ने बुधवार को अपनी बात रखी। कुशवाहा ने माना कि उन्होंने पार्टी में सह्योगी रहे प्रदीप मिश्रा से पैसे लिए थे, लेकिन यह भी कहा कि वे रुपये टिकट के लिए नहीं लिए गए थे। उन्होंने टिकट बेंचने व भ्रष्टाचार के आरोपों से इनकार करत हुए कहा कि अच्छा होगा अगर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इन आरोपों की सीबीआई जांच की अनुशंसा कर दें। कुशवाहा ने आरोपों के दिए ये जवाब नागमणि ने उपेंद्र कुशवाहा पर नौ करोड़ रुपये लेकर लोकसभा चुनाव का टिकट बेचने का आरोप लगाया है। उन्होंने रालोसपा के प्रधान राष्ट्रीय महासचिव माधव आनंद को नौ करोड रुपये लेकर मोतिहारी लोकसभा सीट का टिकट दे दिया है। नागमणि ने कहा कि माधव आनंद एसआर ग्रुप के लाइजनिंग अफसर हैं। उन्होंने एसआर ग्रुप से उपेंद्र कुशवाहा को नौ करोड़ रुपये दिलाए हैं। एसआर ग्रुप के शशि रुइया और रवि रुइया 2जी स्पेक्ट्रम घोटाले में अभियुक्त हैं। बोले- अभी तो टिकट का फैसला ही नहीं हुआ आरोप-इसपर कुशवाहा ने कहा कि महागठबंधन में अभी टिकट का फैसला ही नहीं हुआ तो टिकट बेंचने का बात कहां से आ गई अभी तो यह भी तय नहीं हुआ है कि किस पार्टी को कौन सीट मिलेगी। कुशवाहा ने सवाल किया कि जो सामान है ही नहीं, उसे बेचने की बात कैसे आ गई एसआर ग्रुप के आरोपितों से किसी डील से इनकार करते हुए कुशवाहा ने कहा कि इसे प्रमाणित करें, वे राजनीति छोड़ देंगे। आरोप- प्रदीप मिश्रा ने आरोप लगाया है कि उन्होंने उपेंद्र कुशवाहा को संसद भवन स्थित एसबीआइ के उनके एकाउंट (नंबर- 31286341829) में 45-45 लाख रुपये चेक से 90 लाख रुपये दिए हैं। उन्होंने यह भी कहा कि कुशवाहा ने उनके पैसे से सपरिवार विदेश यात्रा की थी। प्रदीप मिश्रा के अनुसार उन्होंने शिक्षा सुधार रैली के लिए उन्हें ड्राफ्ट से 55 लाख रुपये दिए थे। साथ ही पार्टी पर अबतक 10-15 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। हां, लिए थे पैसे और की थी विदेश यात्रा- इन आरोपों पर कुशवाहा ने कहा कि हां, उन्होंने न केवल पैसे लिए थे, बल्कि उनके पैसे से विदेश यात्रा भी की थी। लेकिन पैसे टिकट के लिए नहीं लिए थे, यह प्रदीप मिश्रा भी मानते हैं। ये पैसे एकाउंट में लिए गए हैं, इसलिए छिपाने की नीयत तो नहीं थी। ये पैसे किसलिए लिए थे, इस सवाल पर कुशवाहा ने कहा कि यह तो प्रदीप मिश्रा बताएंगे कि उन्होंने ये पैसे किसलिए दिए थे। अगर कोई आपराधिक आरोप लगाएंगे तो वे जवाब देंगे। कुशवाहा ने यह भी सवाल किया कि अगर कोई पैसे वाला आग्रह कर विदेश घुमाने के लिए कहे तो उसके आग्रह को मान लेने में क्या गलत हैनीतीश कुमार से सीबीआइ जांच की मांग नागमणि ने उपेंद्र कुशवाहा पर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में मानव संसाधन राज्यमंत्री रहते नवोदय स्कूलों में जॉब व ठेके के लिए पैसे लेने का भी आरोप लगाया है।