निर्दलीय प्रत्याशियों के लिए 199 चिन्ह
April 26, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो
दिल्ली।लोकसभा चुनाव के दौरान निर्दलीयों और गैर मान्यता प्राप्त दलों के प्रत्याशियों के लिए चुनाव आयोग ने 199 चिन्हों को मुक्त रखा है। जिसका लाभ करीब 143 प्रत्याशियों को मिल सकेगा। इन चिन्हों में लैपटॉप, पेन ड्राइव, कंप्यूटर, कंप्यूटर माउस, रोबोट, टीवी रिमोट, सीसीटीवी कैमरा, स्टंप्स आदि शामिल हैं। इस सूची में 37 नए चुनाव चिह्न भी जोड़े गए हैं।
 
दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) डॉ रणबीर सिंह के मुताबिक मुक्त चुनाव चिन्ह उन चिन्हों को कहा जाता है जो किसी पंजीकृत और मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय या राज्य स्तर के राजनीतिक दल को नहीं दिए गए होते हैं। मुक्त चुनाव चिन्ह गैर मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के प्रत्याशियों अथवा निर्दलीय प्रत्याशियों को दिए जा सकते हैं। हालांकि, विशेष अनुरोध किए जाने पर गैर मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों को भी अपने सभी प्रत्याशियों के लिए कॉमन चुनाव चिन्ह आवंटित करने के प्रावधान हैं। मगर, इसके लिए उन्हें चुनाव चिन्ह (आरक्षण एवं आवंटन) 1968 के कुछ प्रावधानों का पालन करना होता है।
 
इस संबंध में चुनाव आयोग के दिशा निर्देशों के मुताबिक यह सुनिश्चित करना होता है कि आवंटित चुनाव चिन्ह उन क्षेत्रों में किसी और राजनीतिक दल अथवा प्रत्याशी को नहीं दिए जाएं जहां से इन दलों के प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। इस बार के चुनाव में चारपाई, सिलेंडर, हरी मिर्च, डिश ऐंटीना, चूडि़यां, कोट, केक, केलकुलेटर जैसे चुनाव चिन्ह देखने को मिलेंगे। नामांकन के दौरान तमाम निर्दलीयों व गैर मान्यता प्राप्त दलों के प्रत्याशियों से चुनाव चिन्ह के तौर पर तीन- तीन विकल्प लिए गए हैं जो नाम वापसी की अंतिम तिथि पर आवंटित होंगे। इन्ही चिन्हों के आधार पर चुनाव लड़ा जाएगा। गौरतलब है कि दिल्ली में भाजपा, आप और कांग्रेस पार्टी को मान्यता प्राप्त राजनीतिक दल का दर्जा प्राप्त है और इनके तमाम 21 प्रत्याशी कमल के फूल, झाड़ू और हाथ के पंजे के निशान पर चुनाव लड़ेंगे।