परम पूज्य गुरुदेव संस्कार प्रणेता मुनि श्री 108 सौरभसागर जी महाराज का श्री मंशापूर्ण महावीर क्षेत्र पर भव्य मंगल प्रवेश
April 27, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो
                      # पंचकल्याणक महोत्सव 18 मई से
 
गाजियाबाद। परम पूज्य पुष्पगिरि तीर्थ प्रणेता आचार्य  श्री 108 पुष्पदन्त सागर जी महाराज के सुयोग्य शिष्य परम पूज्य संस्कार प्रणेता मुनि श्री 108 सौरभ सागर जी महाराज का शनिवार को भव्य मंगल प्रवेश सुबह 7 बजे श्री मंशापूर्ण महावीर क्षेत्र- जीवन आशा हॉस्पिटल, गंगनहर- मुरादनगर में हुआ। यह मंगल विहार आज प्रातः 5.30 पर "तरुणसागरं तीर्थ" ग्राम- बंसन्तपुर सेन्थली (दिल्ली-मेरठ रोड) से श्री मंशापूर्ण महावीर क्षेत्र-गंगनहर के लिए हुआ।
 
इस मंगल विहार में भारी संख्या में जैन समाज के लोग पैदल चल रहे थे। साथ ही बैंडबाजे भी थे। यह पद यात्रा लगभग 7 बजे मंशापूर्ण भगवान महावीर मंदिर गंग नहर के किनारे पहुंची, जहां पर महाराज श्री का पाद  प्रच्छालन किया गया। उसके उपरांत महाराज श्री ने मंशापूर्ण महावीर भगवान के दर्शन किए। 
 
इस अवसर पर महिला मंडल द्वारा एक नृत्य प्रस्तुत किया गया। उसके उपरांत महाराज श्री ने अपने मंगल प्रवचन में कहा कि 18 मई से 23 मई तक मंशापूर्ण भगवान महावीर के पंच कल्याणक महोत्सव में जो भी शामिल होगा, उसे पुण्य लाभ मिलेगा। भगवान महावीर के पंच कल्याणक में लगभग सौ से अधिक इंद्र-इंद्राणी भाग लेंगे। 
 
उसके अलावा, भगवान महावीर की प्रतिमा को मंत्रों के द्वारा शुद्धि की जाएगी। उसके उपरांत सूर्य मंत्र द्वारा इसकी स्थापना होगी। इस अवसर पर जीवन आशा हॉस्पिटल का लोकार्पण भी किया जाएगा। जैन समाज द्वारा जीवन आशा हॉस्पिटल का जो शुभ कार्य किया जा रहा है, वह सराहनीय है। क्योंकि हॉस्पिटल बीमार लोगों को, अपंग लोगों को जीवनदान देता है। जिससे वो इस संसार में अपना जीवन यापन स्वस्थ होकर कर सकें।
 
उन्होंने आगे कहा कि सभी दान में औषधि दान उत्तम है।जिसने भी इसमें सहयोग किया, वो सभी पूण्य के भागी हैं। फिर वह सहयोग किसी भी प्रकार का हो, आप सभी जीवन आशा हॉस्पिटल के लोकार्पण एवं पंच कल्याणक महोत्सव में सपरिवार सम्मिलित होकर धर्म लाभ लें।
इस अवसर पर संजय जैन, अजय जैन, आशीष जैन, प्रदीप जैन, बी के जैन, सतपाल जैन, अशोक जैन, जे पी जैन, नीतू जैन, साधना जैन, रश्मि जैन, बीना जैन आदि का विशेष सहयोग रहा।
 
जैन समाज के प्रवक्ता अजय जैन ने बताया कि 5 मई 2019 को शताधिक पात्रों एवं इन्द्र इंद्राणीयों का भव्य तिलक समारोह भी आयोजित होगा।