बचपन बचाओ आंदोलन के तहत भोपाल में 12 बाल मित्र पुलिस थानों की स्थापना
August 28, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो
नई दिल्ली । नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित कैलाश सत्यार्थी द्वारा स्थापित 'बचपन बचाओ आंदोलन' ( बीबीए ) और मध्य प्रदेश पुलिस विभाग ने बाल मित्र दुनिया बनाने के उद्देश्य से प्रत्येक बच्चों की हिंसा और शोषण से रक्षा को सुनिश्चित करने के लिए राज्य में पहली बार 12 बाल मित्र पुलिस स्टेशनों का उदघाटन किया। गौरतलब है कि उदघाटन किए गए इन 12 स्टेशनों में से भोपाल डिवीजन के विदिशा, सीहोर, राजगढ़ और रायसेन जिलों में 10 पुलिस स्टेशन स्थापित किए गए हैं। बाल मित्र पुलिस स्टेशन का उदघाटन नगर के महाराणा प्रताप नगर पुलिस स्टेशन में औपचारिक रूप से किया गया। इन पुलिस स्टेशनों को जब अधिकारियों के हवाले किया जा रहा था, उस वक्त पुलिस महकमे के अन्य आला अधिकारियों और कर्मियों की भी उपस्थिति देखी गई। 
बीबीए ने पुलिस को बाल मित्र पुलिस स्टेशन बनाने के बाबत बाल संरक्षण के लिए बने राष्ट्रीय बाल अधिकार आयोग के दिशा-निर्देशों के मुताबिक संवेदनशील बनाया। संगठन ने इसके कार्यान्वयन में सहायता की और यह सुनिश्चित किया कि बच्चों के साथ व्यवहार करते समय किसी भी प्रक्रियात्मक प्रावधानों की अनदेखी न की जाए। 
गौरतलब है कि ये बाल मित्र पुलिस स्टेशन बीबीए के महत्वपूर्ण सहयोग से निर्मित हैं। इस महत्वपूर्ण पहल के लिए  एनजीओ ने हर पुलिस स्टेशन में बच्चों के लिए एक अलग कमरे के नवीनीकरण और उसके निर्माण के लिए सभी सामग्री प्रदान की है। इसके मुख्य इमारत में एक अलग निकास और प्रवेशद्वार है। इमारत की दीवारों को चित्रों से सुसज्जित करने के अलावा, इसके कमरों को बिस्तर, वाटर कूलर, रोशनी आदि से भी लैस किया गया है, ताकि बच्चों को थानों में जाने के लिए आराम का अनुभव हो। इसके अलावा इन कमरों में किताबों, खिलौनों और खेलकूद की भी व्यवस्था की गई है ताकि बच्चों के मूड और व्यवहार को बदलने में मददगार हो। बच्चों को किसी भी प्रकार की चिंता नहीं करनी पड़े इसकी पूरी व्यवस्था की गई है। 
पुलिस महानिरीक्षक आईपीएस  योगेश देशमुख ने राज्य में 12 बाल मित्र पुलिस स्टेशनों के निर्माण के लिए बीबीए के प्रयासों की सराहना की। उदघाटन समारोह में अन्य गणमान्य लोगों में बीबीए के अधिकारी श्री मनीष शर्मा, पुलिस उप महानिरीक्षक इरशाद वली, एआईजी-सीआईडी महावीर मुजाल्दे और पुलिस अधीक्षक (दक्षिण) संपत उपाध्याय शामिल थे।
इस समारोह में बोलते हुए बीबीए के मुख्य कार्यकारी अधिकारी  समीर माथुर ने कहा, “हम इस पहल के लिए मध्य प्रदेश पुलिस विभाग को बधाई देते हैं। अपनी स्थापना के बाद से ही बीबीए ने सरकार और सिविल सोसायटी के साथ मिलकर एक बाल मित्र समाज बनाने के लिए प्रतिबद्धता जताई है। बाल मित्र पुलिस स्टेशन अपराध की रिपोर्टिंग को प्रोत्साहित करने और सभी बच्चों की न्याय तक पहुंच को सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।