बजट भाषण 2019-20 में वित मंत्री सुशील मोदी का दिखा शायराना अंदाज
February 12, 2019 • राकेश रमण

पटना। बिहार के उपमुख्यमंत्री सह वित्तमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आज सदन में बिहार का दो लाख करोड़ का बजट पेश किया। बजट पेश करने के बाद उन्होंने कहा कि 11 फीसदी की विकास दर हासिल करने के बाद भी कुछ लोगों को बिहार का विकास नहीं नजर आ रहा है। इसके साथ ही वित्तमंत्री सुशील मोदी ने अपने बजट भाषण के दौरान दमदार शेर भी पढ़े... -नजर को बदलो, तो नजारे बदल जाते हैं सोच को बदलो, तो सितारे बदल जाते हैंकश्तियाँ बदलने की जरुरत नहीं दिशा को बदलो, तो किनारे खुद ब खुद बदल जाते हैं। नशा पिला के गिराना तो सबको आता है मजा तो तब है कि गिरतों को थाम ले साकी। -खग! उड़ते रहना जीवन भर ! मत डर, प्रलय झकोरों से तु बढ़, आशा हलकोरों से तू क्षण में यह अरि-दल मिट जायेगातेरे पंखों से पिस कर ! खग! उड़ते रहना जीवन भर ! बताया बजट के बारे मेंउन्होंने कहा कि ये बजट 2004-05 के बजट से आठ गुणा ज्यादा है। 2019-20 में पूंजीगत व्यय पर 45 हजार 2 सौ 70 हजार करोड़ खर्च होगा, वेतन पेंशन पर भी सरकार का ध्यान है जिसमें संविदाकर्मी भी शामिल हैंवित्तीय प्रबंधन में बिहार पहले स्थान पर है तो वहीं कृषि समेत कई मामलों में भी बिहार आगे है। बिहार का खुदरा महंगाई दर 2.7 प्रतिशत हैउन्होंने कहा कि जो बिहार सोचता है. वही हिन्दुस्तान भी सोचता हैबजट से हर वर्ग के लोगों को उम्मीद है। कृषि सहित सभी मामलों में बिहार आगे है। वित्तमंत्री ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में बिहार सबसे ज्यादा खर्च करता है और ग्रामीण क्षेत्र के विकास में खर्च करने में भी बिहार दूसरे नंबर पर है। कृषि सहित हर मामले में बिहार लगातार आगे बढ़ रहा है।बिहार का पूंजीगत व्यय बढ़ा है। उन्होंने कहा कि बिहार में 11 नए मेडिकल कॉलेज खोले जाएंगे। पीएमसीएच के लिए 5554 करोड़ की योजना की स्वीकृति दी गई हैवहीं, साइकिल योजना के लिए 3 हजार रुपए की स्वीकृति दी गई हैग्राम सड़क योजना के तहत 2815 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। सुशील मोदी ने कहा कि 18 लाख 66 हजार किसानों को डीजल अनुदान मिला है। बजट में सीएम नीतीश के सात निश्चय को प्राथमिकता दी गई है। कषि रोड मैप में बिहार को छठा स्थान मिला है। राजधानी पटना में सीसीटीवी पर 110 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। 6105 पंचायतों में ऑप्टिक फाइबर बिछाए गए हैं।