बुजुर्गों और गर्भवती महिलाओं को मिलेगी बिना लाइन मतदान करने की सुविधा
April 6, 2019 • राकेश रमण
नई दिल्ली।दिव्यांग मतदाताओं को मतदान करने के प्रति जागरूक करने व ईवीम -वीवीपैट मशीनों से मॉक पोल (असली मशीनों से नकली मतदान) कराने के लिए शनिवार को हौज़ खास में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उदघाटन दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. रणबीर सिंह ने किया। उनके साथ दक्षिणी जिला की निर्वाचन अधिकारी निधि श्रीवास्तव, पूर्वी जिला के निर्वाचन अधिकारी के.महेश, दिव्यांग आइकन डॉ सतिंदर सिंह, बधिर संघ के महासचिव एएस नारायणन आदि उपस्थित थे।
 
इस दौरान सीईओ ने बताया कि केंद्रीय चुनाव आयोग ने इस बार की थीम ' सुगम चुनाव ' रखी है। जिसके तहत तमाम मतदाताओं को मतदान के दौरान सुगम वातावरण प्रदान किया जाएगा। इसके लिए सभी मतदान केंद्रों पर पीने के लिए ठंडा पानी, धूप से बचाव के लिए छाया, गर्मी से बचाव के लिए पंखे -कूलर व साइनेज की व्यवस्था की जाएगी। इन साइनेज के साथ ईवीएम की बैलेट यूनिट पर ब्रेल साइनेज होगा। मतदान केंद्रों पर दिव्यांगों के लिए रैंप बनाने के साथ व्हील चेयर भी उपलब्ध कराई जाएगी। साथ ही मतदान केंद्र तक आने जाने के लिए दिव्यांगों को परिवहन की सुविधा दी जाएगी। जबकि अल्प दृष्टि बाधितों के लिए मैग्निफाइंग ग्लास उपलब्ध कराए जाएंगे ताकि वे अपने पसंदीदा प्रत्याशी और पार्टी के पक्ष में मतदान कर सकें।
 
वहीं, मतदान करने वाले बुजुर्गों व गर्भवती महिलाओं को लाइन में लगे बिना मतदान करने की सुविधा मुहैया कराई जाएगी। इसके लिए स्वयंसेवकों को प्रशिक्षित किया जाएगा जो प्राथमिकता के आधार पर इनकी सहायता करेंगे। इस कार्यक्रम का आयोजन दक्षिणी जिला निर्वाचन कार्यालय और क्षमता विकास व समावेशन कार्य (ए.ए.डी.आई.) के सहयोग से किया गया।
इस कार्यक्रम के दौरान सुगम पोलिंग बूथ के एक मॉडल का प्रदर्शन भी किया गया जिसमें मॉक पोल स्टेशन बनाए गए थे। यहां मतदाताओं ने ईवीएम- वीवीपैट मशीनों से मतदान करने का अनुभव लिया। वहीं, मतदाता पंजीकरण डेस्क पर मतदाताओं केे नाम मतदाता सूची में जांचने की सुविधा भी मौजूद थी।