बेतहाशा गर्मी से झुलसते गाजियाबाद में फिर तेज किया जाएगा वृक्षारोपण अभियान
May 1, 2019 • कमलेश पांडे
# लगभग पौने 3 लाख पौधे हैं तैयार, अन्य लिए जाएंगे निजी नर्सरियों से
 
# वृक्षारोपण में लेटलतीफी बरतने वाले विभागों को जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी ने लगाई झिड़की
 
# डीएम ने 5 दिनों के भीतर गड्ढे खोदने के कार्यों में गति लाने और अद्यतन सूचना 10 मई तक वन विभाग को प्रदान करने के लिए दिए निर्देश
 
# जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी की अध्यक्षता में हुई वृक्षारोपण सम्बन्धी समीक्षा बैठक
गाजियाबाद। बेतहाशा गर्मी में झुलसते गाजियाबाद में वृक्षारोपण अभियान फिर तेज किये जाने के संकेत मिले हैं। इस बाबत जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी ने कलेक्ट्रेट सभागार में वृक्षारोपण सम्बन्धी की एक समीक्षा बैठक भी आयोजित की और इसमें सम्मिलित अधिकारियों को दो टूक बता दिया कि वृक्षारोपण पर ही पर्यावरण संतुलन का भविष्य निर्भर है। लिहाजा, इस मामले में कोई भी कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। 
 
इस बैठक के दौरान जिला वन अधिकारी ने जिलाधिकारी को जानकारी दी कि वृक्षारोपण से सम्बन्धित सूचनाएं नगरपालिका परिषद लोनी, आवास विकास परिषद गाजियाबाद व उद्यान विभाग से ही प्राप्त हुई हैं, जबकि अन्य विभागों ने अभी सूचनाएं नहीं प्रेषित की है। इस पर कड़ा रुख दिखाते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि जिन विभागों की भूमि चिन्हिकरण संबंधी व जियो टैगिंग सम्बन्धित सूचनाएं प्राप्त नहीं हुई हैं, वो सभी आगामी 31 मई तक सूचनाएं वन विभाग को प्रेषित करें। 
 
इस बैठक में जिला वन अधिकारी ने बताया कि जनपद में 5 शासकीय पौधशालाएं हैं, जिनसे लगभग 25-30 हजार पौधे उद्यान विभाग को मिलेंगे जिसे वह वन विभाग को उपलब्ध करायेगा। जबकि, लगभग एक लाख पौधे वन विभाग के पास उपलब्ध हैं। उसके अलावा, 1 लाख 50 हजार पौधे नगर निगम को उपलब्ध कराने थे। इसके अलावा, निजी नर्सरियों से भी पौधे लिये जाएंगे। 
 
इसके बाद जिलाधिकारी ने याद दिलाया कि गाजियाबाद विकास प्राधिकरण द्वारा पिछले वर्ष पैचिज चिन्हित किये गये थे, उन पर पौधे नहीं लग पाये हैं। लिहाजा, इस वर्ष वहां पौधे अवश्य रोपित कराएं। जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुये कहा कि अभी तक गढ्ढा खुदान का कार्य भी पूर्ण नहीं किया गया है। फिर भी 31 मई तक सभी प्रक्रियाएं पूर्ण कर ली जाये। 
 
बैठक में नगर निगम के अधिकारी ने जिलाधिकारी को बताया कि प्रत्येक वार्ड के पार्कों में स्थान चिन्हित कर पौधे रोपित किये जाएंगे। इस पर जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि विकसित पार्कों में जहां-जहां स्थान रिक्त है, नगर निगम द्वारा वहां पौधे रोपित किये जाएं। जिलाधिकारी ने यह भी कहा कि नागरिक सुरक्षा के पर्यावरण मित्रों द्वारा पौधा रोपण हेतु कुछ भूमि चिन्हित की गयी थी, वहां भी पौधे रोपे जाएं। 
 
जिलाधिकारी ने गाजियाबाद नगर निगम और गाजियाबाद विकास प्राधिकरण को निर्देश दिया कि वे आपस में समन्वय बनाकर कार्य प्रारम्भ करें। साथ ही, स्पोट व गढ्ढे खुदाई की सूचना जल्द भेजें। उन्होंने निर्देश दिया कि आगामी 5 मई से सभी विभाग गढ्ढा खुदाई का कार्य आरम्भ कराएं। उन्होंने स्पष्ट कहा कि यदि 10 मई तक वन विभाग को सभी विभागों की सूचनाएं प्राप्त नहीं हुई तो दुबारा बैठक बुलाई जायेगी। 
 
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी, जिला वन अधिकारी, अपर नगर आयुक्त, अधिशासी अधिकारी, नगर पलिका परिषद, जिला पंचायती राज अधिकारी सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।