ब्रह्मपुत्र एनक्लेव सेक्टर 10 और 7 के आवंटियों ने बुलंद की आवाज
April 15, 2019 • कमलेश पांडे
गाजियाबाद। आवास विकास परिषद की सिद्धार्थ विहार योजना को किसी की नजर लग गई है। एक तो प्रॉपर्टी मार्केट में छाई मंदी इसे उबरने नहीं दे रही है, तो दूसरे आवास विकास परिषद के अधिकारी और उनके चहेते ठेकेदार जनसुविधाओं की बहाली में उम्मीद से अधिक कंजूसी बरत रहे हैं। इससे आम आवंटियों को तरह तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है, जिससे वे अधिकारियों को तो अवगत कराते हैं, लेकिन समाधान नहीं के बराबर मिल रहा है। इसके नकारात्मक असर से भी यह योजना आगे नहीं बढ़ पा रही है।
 
बता दें कि सिद्धार्थ विहार स्थित ब्रहमपुत्र एनकेलव 7 और 10 के आवंटीगण सोमवार को वसुंधरा स्थित आवास विकास परिषद के मुख्य कार्यालय में बैठने वाले अधीक्षण अभियंता नरसिंह प्रसाद और अधिशासी अभियंता भोलानाथ सिंह से मिले और अपनी अपनी परेशानियां बताई। इस दौरान आवंटियों ने एक एक कर विभिन्न फ्लैट्स की कमियों से अधिकारी द्वय को अवगत कराया और एक हफ्ते के भीतर अपनी सभी अहम समस्याओं के निदान की मांग की। 
 
प्राप्त आधिकारिक जानकारी के मुताबिक, आवंटियों ने मुख्य रूप से गंगाजल के पानी, पार्कों की सफाई व सौंदर्यीकरण आदि से सम्बन्धित लम्बित समस्याओं के समाधान की मांग की। अधिकारियों से मिलने के मौके पर नीरज सिंह, शैलेन्द्र सिंह, धर्मेन्द्र सिंह, संदीप राठी, देवेंद्र, विकास चौधरी, मोहित राणा, सुरेंद्र वर्मा, मुकेश गुप्ता, अमित कुमार, हितेश कुमार, रामनाथ, सत्य रानी, रावत आदि लोग मौजूद रहे।