भवानी शंकर कुसुम को वर्ष 2019 का प्रतिष्ठित जमनालाल बजाज पुरुस्कार मिलेगा 
August 15, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो

जयपुर। राजस्थान के प्रमुख सामाजिक कार्यकर्ता, पर्यावरणविद और ग्राम भारती समिति के सचिव भवानी शंकर कुसुम को रचनात्मक कार्यों के लिए वर्ष 2019 का प्रतिष्ठित जमनालाल बजाज पुरुस्कार देने की घोषणा की गई है। 
जेपी आंदोलन के दौरान भवानी शंकर कुसुम ने छात्र युवाओं को एकजुट कर आंदोलन को प्रदेश और देश में फैला कर  देशभर में अपनी पहचान बनाई थी। लोकनायक जेपी द्वारा गठित छात्र युवा संघर्ष वाहिनी के कौर ग्रुप में रहे है। कुसुम दिनमान, नवभारत टाइम्स और इतवारी पत्रिका से भी जुड़े रहे है। भवानी शंकर कुसुम वर्तमान में ग्राम भारती समिति नामक एनजीओ के सचिव और  निदेशक के रूप में कार्यरत है। ग्राम भारती के माध्यम से वर्षा जल संरक्षण ,पर्यावरण चेतना, शिक्षा और मरुस्थलीयकरण आदि के क्षेत्र में कुसुम देश विदेश में भ्रमण कर जन जागरण का अलख जगा रहे है। ग्राम भारती समिति को संयुक्त राष्ट्र के आर्थिक सामाजिक एवं सांस्कृतिक संगठन म्ब्व्ैव्ब् में विशेष परामर्शक का दर्जा प्राप्त है। कुसुम यूएनसीसीडी में एशिया क्षेत्र से गैर सरकारी संगठनों के प्रतिनिधि हैं।
जमनालाल बजाज पुरस्कार गांधीवादी विचारों के उन्नयन, सामुदायिक सेवा और सामाजिक विकास के क्षेत्र में दिया जाता है। यह पुरस्कार दिवंगत उद्योगपति जमनालाल बजाज की याद में दिया जाता हैं। इसकी स्थापना वर्ष 1977 में गांधीजी के निकट सहयोगी जमनलाल बजाज की स्मृति में किया गया था। प्रत्येक श्रेणी के पुरस्कार में सम्मान पत्र, ट्रॉफी और 10 लाख की इनामी राशि दी जाती है।