भारत के प्रथम आई एफ बी बी प्रो विजेता भुवन चौहान ने युवाओं को प्रेरित किया 
August 2, 2019 • शशिधर शुक्ला
नई दिल्ली।  बॉडी बिल्डिंग भौगोलिक मानचित्र  के साथ-साथ भारत में भी एक उभरता हुआ खेल है। भुवन चौहान जैसे कई युवा प्रतिभावान देश का नाम  ऊंचा कर रहे हैं। भुवन चौहान भारत के पहले ऐसे इंसान हैं जिन्होंने मिस्टर ओलंपिया - मेन फिजिक के लिए क्वालिफाई किया है। अपने दृढ़ संकल्प और समर्पण के साथ, उन्होंने खुद को अकेले  ही तैयार किया है। जिसे उन्होंने एक फिटनेस हॉबी के रूप में शुरू किया था आज उसी को व्यवसाय के रूप में आगे बढ़ा रहे हैं।
भारत के आईएचएफएफ, शेरू क्लासिक और यूएफसी जिम को बेहद खुशी और गर्व है कि वे भुवन चौहान की इस मीट और ट्रेनिंग कार्यक्रम को होस्ट किया।
शेरू क्लासिक आईएचएफएफ के साथ मिलकर, बॉडीबिल्डिंग और फिटनेस के अंतराष्ट्रीय खिलाड़ियों को बुलाने, भारतीय बॉडीबिल्डिंग के स्तर को बढ़ाने और उसे ग्लोबल मैप पर लाने की जिम्मेदारी रखता है। शेरू क्लासिक बॉडी बिल्डिंग में क्रांति लाकर हर रोज इतिहास रच रहे  है। दुनिया भर के एथलीट प्रतियोगिता और शो में भाग लेने के लिए भारत की यात्रा करते हैं।
यूएफसी जिम के संस्थापक और निदेशक, इस्तयाक अंसारी और चेयरमैन, फरज़ाद पालिया ने बताया कि, भुवन चौहान जैसे प्रतिभावान खिलाड़ी  सभी बॉडी बिल्डर और एथलीटों के लिए एक रोल मॉडल की तरह होते हैं जो उन्हें ताकत, साहस, और अनुशासन की सीख देते हैं। हम युएफसी जिम में अत्याधुनिक उपकरणों के साथ एक परम फिटनेस अनुभव प्रदान करते हैं और फिटनेस के प्रति उत्साही लोगों को प्रेरित करते हैं। इस तरह के कार्यक्रम भारतीय फिटनेस खिलाड़ियों और हम में आत्मविश्वास जगाने में एक बहुत बड़ी भूमिका निभाते हैं।”
शेरू क्लासिक के संस्थापक और चेयरमेन, शेरु आंगरिश ने बताया कि, “मैं अपने भाई हेमंत आंग्रीश के साथ हूं, जो भारत के आईएफबीबी (इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ बॉडी बिल्डिंग) प्रो लीग और एनसीपी के प्रमुख हैं। भुवन आईएफबीब प्रो प्रतियोगिता जीतने वाले पहले भारतीय हैं जिन्होंने ओलंपिया मेन्स फिजिक डिवीजन के लिए क्वालीफाई किया है। इस जीत के साथ उन्होंने लाखों भारतीय एथलीटों को प्रेरित किया है। यहां हर कोई उनकी यात्रा से प्रेरित है और हम फिटनेस के प्रति उत्साही लोगों को प्रोत्साहित करके भारत में फिटनेस और बॉडीबिल्डिंग को बढ़ावा देने के लिए हर संभव प्रयास करते हैं। हम भारतीय एथलीटों को इस तरह के कार्यक्रमों के माध्यम से एक मंच प्रदान करते हैं जो उनके भविष्य को बेहतर करने में उनकी मदद करता है।