भारत में होगा रेनो ट्राइबर का ग्लोबल प्रीमियर
June 21, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो

नई दिल्ली: भारत में कारों के सर्वप्रमुख यूरोपीय ब्रांड, रेनो ने अपने बिल्कुल नए ग्लोबल प्रोडक्ट, रेनो ट्राइबर का आज भारत में अनावरण किया। रेनो ट्राइबर भारत एवं फ्रांस में मौजूद रेनो की टीमों के एक संयुक्त परियोजना का परिणाम है, तथा यह दुनिया का पहला ऐसा वाहन है जिसे भारतीय बाज़ार के लिए ख़ासतौर पर डिज़ाइन किया गया है।

रेनो ट्राइबर के अनावरण के अवसर पर ग्रुप रेनो के सीईओ, थिएरी बोल्लोरे, ने कहा, “ग्रुप रेनो के लिए भारत हमेशा से एक महत्वपूर्ण बाज़ार रहा है। भारत के लिए हम अभी भी नवोदित ब्रांड हैं, फिर भी हमारी बेहद महत्वाकांक्षी हैं तथा "ड्राइव द फ्यूचर" की अपनी रणनीतिक योजना के अनुरूप आगे बढ़ रहे हैं: वर्ष 2022 तक अपनी बिक्री को दोगुना करना ही हमारा लक्ष्य है। इसी वजह से हम भारतीय बाज़ारों के लिए लक्षित रेनो ट्राइबर को ला रहे हैं, जो सफलता की एक और संकल्पना है। रेनो ट्राइबर की परिकल्पना, विकास और उत्पादन भारत में ही किया गया है, तथा दुनिया भर के बाज़ारों से पहले इसे हम भारतीय ग्राहकों के लिए प्रस्तुत कर रहे हैं। यह वास्तव में बड़े पैमाने पर बदलाव लाने वाला साबित होगा।"

 रेनो ट्राइबर की डिजाइनिंग से जुड़े इनोवेशन पर चर्चा करते हुए, लॉरेन्स वैन डेन ऐकर, एग्जीक्यूटिव वाइस-प्रेसिडेंट, कॉर्पोरेट डिजाइन, ग्रुप रेनो, ने कहा, “ट्राइबर के साथ हमारा लक्ष्य एक ऐसी कार को डिजाइन करना था, जो हमारे ग्राहकों की अलग-अलग जरूरतों एवं जीवन-शैली के अनुरूप रूपांतरित हो जाए। चाहे वे माता-पिता हों या फिर प्रेमी-प्रेमिका की जोड़ी, दोस्तों का समूह, एक फैमिली पैक हो, तथा उनकी सामाजिक श्रेणी एवं जीवन-शैली कुछ भी हो, रेनो ट्राइबर को उनकी आवश्यकताओं के अनुरूप होना चाहिए। ट्राइबर वास्तव में मिलनसार स्वभाव एवं सहभाजन के भारतीय मूल्यों पर खरा उतरता है, और रेनो ने भी इन्हीं मूल्यों को अपनाया है। इसका डिज़ाइन बेहद आकर्षक, मजबूत और सुगठित है तथा यह सभी के लिए पर्याप्त जगह की अवधारणा को नए सिरे से प्रस्तुत कर रहा है। अपनी नवीनतम सफलता पर हमें बहुत गर्व है, जिसने 4 मीटर के भीतर लंबाई की चुनौती को एक चमत्कार में बदल दिया!”

रेनो ट्राइबर का डिज़ाइन बेहद आकर्षक है तथा यह मज़बूत, सुगठित, अधिक जगह वाला एवं मॉड्यूलर और विभिन्न सुविधाओं से युक्त वाहन है, जिसने 4 मीटर से कम की श्रेणी में एक से सात वयस्कों को आराम से समायोजित करने की उपलब्धि हासिल की है। रेनो ट्राइबर भारतीय ग्राहकों की अपेक्षाओं की गहरी समझ और पूर्ण विश्लेषण का परिणाम है, जो अद्वितीय लचीलापन प्रदान करता है। रेनो ट्राइबर एक आधुनिक, आलीशान परंतु सुगठित, अल्ट्रा-मॉड्यूलर, एवं ईंधन-कुशल वाहन, जिसमें कई नवीनतम एवं व्यावहारिक सुविधाएं मौजूद हैं तथा निश्चित तौर पर यह बड़े पैमाने पर बदलाव लाने वाला साबित होगा। पांच-सीट के कॉन्फ़िगरेशन की श्रेणी में रेनो ट्राइबर की बूट कैपेसिटी सबसे अधिक है।

ग्रुप रेनो के विकास की बात की जाए, तो इसके लिए भारत सर्वप्रमुख बाजारों में से एक है तथा ग्रुप रेनो का उद्देश्य रेनो ट्राइबर के ज़रिए भारत में तीव्र गति से विस्तार करना है। अपनी ड्राइव द फ्यूचर की रणनीतिक योजना के एक हिस्से के रूप में, ग्रुप रेनो ने वर्ष 2022 तक 5 मिलियन से अधिक वाहनों के लक्ष्य के साथ बिक्री में 40% से अधिक की वृद्धि को हासिल करने तथा भारत में अगले तीन वर्षों में सालाना बिक्री को दोगुना करते हुए इसे 200,000 यूनिट तक पहुंचाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। रेनो ट्राइबर का निर्माण चेन्नई संयंत्र में किया जाएगा तथा इसे वर्ष 2019 की दूसरी छमाही में भारतीय बाजार में प्रतिस्पर्धी मूल्य पर बेचा जाएगा।

इस अवसर पर वेंकटराम ममिलापल्ले, कंट्री सीईओ एवं मैनेजिंग डायरेक्टर, रेनो इंडिया ऑपरेशंस, ने कहा, “रेनो ट्राइबर पूरे सेगमेंट में ग्राहकों के एक विस्तृत समूह पर लक्षित है, जिसमें बी-सेगमेंट सबसे आगे है तथा यह ज़्यादा जगह एवं मॉड्यूलरिटी के मामले में स्थिति को बदलकर इसमें नयापन लाएगा। रेनो ट्राइबर ग्राहकों की भावनाओं की गहरी समझ, प्रतिभा-सम्पन्न इंजीनियरिंग क्षमता, डिजाइन के क्षेत्र में गहन विशेषज्ञता और मजबूत विनिर्माण दक्षताओं के संदर्भ में भारतीय टीमों की निपुणता को सशक्त तरीके से दर्शाता है। भारतीय ग्राहक आकर्षक मूल्य प्रस्ताव एवं सुविधाओं को अत्यधिक महत्व देते हैं, और रेनो ट्राइबर रेनो की नवीनतम डिजाइन, आधुनिक सुविधाओं, पर्याप्त जगह, विशालता और बहुमुखी प्रतिभा से सुसज्जित है। रेनो ट्राइबर एक बड़ी सफलता है जो कार से कहीं बढ़कर है, तथा भारत में वार्षिक बिक्री को दोगुना करने के हमारे मध्यावधि के लक्ष्य में इसकी भूमिका होगी।