मनोज तिवारी ने किया कश्मीरी विस्थापितों का सम्मान
August 12, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो

नई दिल्ली। लाजपत नगर में कश्मीरी विस्थापित के लिए एक सम्मान समारोह का भव्य आयोजन किया गया जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में दिल्ली दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी मौजूद रहे कार्यक्रम में कार्यक्रम का आयोजन सामाजिक कार्यकर्ता  अखिलेश चंद्र शुक्ला द्वारा किया गया जिसमे सांस्कृतिक आदान-प्रदान के साथ साथ हम सब आपस में भाई भाई का संदेश दिया गया
                              इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सांसद और दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी पहुँचे जिन्होंने कश्मीरी विस्थापितों को शॉल प्रदान कर, मिठाई खिलाकर एवं गले से लगा कर सम्मानित किया।
श्री मनोज तिवारी ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आजादी के कई दशक बाद डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के उस आन्दोलन को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री श्री अमित शाह ने जीवंत कर दिया जिसके लिए उन्होने अपने जीवन का बलिदान दे दिया था। कश्मीर में धारा 370 के समाप्त होने और 35 ए की समाप्ति के बाद उन हजारों शहीदों की आत्मा को भी शांति मिलेगी जिन्होंने कश्मीर की रक्षा और आतंकवाद का सामना करते हुए अपने जीवन का बलिदान दिया।
                             श्री मनोज तिवारी ने कहा के डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी और सरदार बल्लभ भाई पटेल का सपना था कि भारत अखंड बने और भारतीय जनता पार्टी का संकल्प था कि कश्मीर से धारा 370 और 35ए हटे और आज अखंड भारत की राह में सबसे बड़ा रोड़ा ये धाराएँ हटाकर दोनों ही सपने साकार होते नजर आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि अब कश्मीर के युवाओं को रोजगार बुजुर्गों को मुफ्त चिकित्सा के लिए पाँच लाख की सुविधा बेटियों को उनका अधिकार महिलाओं को सम्मान मिलेगा और दर्शकों तक विस्थापन की पीड़ा झेलने वाले कश्मीर के भाइयों बहिनों को उनकी मात्रभूमि में बापसी का अवसर और रोजगार मिलने के बाद कोई भी युवा अपने ही देश की सेना के खिलाफ पत्थर नहीं उठाएगा।

                              श्री अखिलेश चंद्र शुक्ला ने कहा कि दिल्ली के विभिन्न क्षेत्रों में रहने वाले कश्मीरी भाइयों बहनों को इसी तरह कार्यक्रमों का आयोजन कर सम्मानित किया जाएगा और दशकों से उनके जख्मों का मरहम लगाने का काम एक सामाजिक कार्यकर्ता होने के नाते समाज को साथ लेकर हम करेंगे 
                              इस अवसर पर बंशीलाल कौल, सुमीर चुघ अध्यक्ष कश्मीर समिति, विजय रैना महासचिव, विजय कुमार भट्ट, संजय कौल, पी एल कार, कनवाल चैधरी, राजेश रैना, कुलदीप कुमार भट्ट, वीर कांत कौल, रमेश दादू, रमेश साधू, रमेश पंडित, श्रीमती अलगानी आदि को सम्मानित किया।