मोती नगर सिंह सभा के सर्वसम्मिति से अध्यक्ष चुने गये  राजा सिंह
August 28, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो

नई दिल्ली। शिरोमणी अकाली दिल के नौजवान नेता भूपिंदर सिंह गिन्नी द्वारा दी जानकारी के अनुसार मोती नगर सिंह सभा के हुए चुनावों में गोलक चोरीके आरोपी मनजीत सिंह जी.के के खासम खास परमिंदरपाल सिंह को संगत के भारी रोष का सामना करना पड़ा जिसे देखते हुए वह चुनाव लड़ने से पीछे हट गये और राजा सिंह को सर्वसम्मिति से अध्यक्ष चुन लिया गया। चुनाव प्रभारी सतिंदर सिंह सोनी, मनजीत सिंह सेठी और अमनदीप सिंह मोंटू द्वारा यह चुनाव संपन्न करवाये गये।

            गिन्नी ने कहा कि असल में परमिंदरपाल सिंह धड़े ने पिछले साल भी मोती नगर सिंह सभा के अध्यक्ष का चुनाव लड़ा था और बुरी तरह हार गया था। इस बार उसने अध्यक्ष पद के लिए अपना नामांकन पत्र भर दिया। जब नामांकन पत्र भरने की खबर संगत में फैली तो संगत ने उसके खिलाफ रोष प्रकट किया तथा उनके खिलाफ  वीडियो सोशल मीडिया पर डाल दिया। कुछ महिलाओं ने परमिंदरपाल सिंह को बुरी तरह बेनकाब किया।

           उन्होंने कहा कि संगत के रोष को देखते हुए परमिंदरपाल सिंह चुनाव लड़ने से पीछे हट गये और अपना चुनाव चिन्ह लेने के लिए नहीं पहुंचे। जिसके चलते राजासिंह सर्वसम्मिति से अध्यक्ष चुने गये।

           उन्होंने बताया कि मनजीत सिंह जी.के के खिलाफ गोलक चोरी का केस सार्वजनिक होने के बाद भी परमिंदरपाल सिंह उसका सहयोगी बना हुआ है जिसके चलते परमिंदरपाल सिंह के खिलाफ भी संगत में इस बात का रोष है कि जिन्हें संगत ने गुरुघर की सेवा बख्शी थी और उन्हीं पर गोलक चोरी के आरोप लगे हैं।