राष्ट्रभाषा हिन्दी प्रचार समिति  के वार्षिक राष्ट्रीय पुरस्कारों की घोषणा
August 2, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो

जयपुर । राष्ट्रभाषा हिन्दी प्रचार समिति श्री डूंगरगढ द्वारा हिन्दी व राजस्थानी साहित्य सृजन के लिए  दिए जाने वाले  वर्ष  2019 के राष्ट्रीय पुरस्कारों की घोषणा कर दी गई है । यह जानकारी देते हुए संस्था के अध्यक्ष और जाने माने साहित्यकार  श्याम महर्षि और सचिव बजरंग शर्मा ने बताया कि  इस बार संस्था का सर्वोच्च सम्मान साहित्यश्री प्रतिष्ठ व्यंग्यकार प्रेम जनमेजय को उनके समग्र साहित्यिक अवदान के लिए अर्पित किया जाएगा। प्रतिष्ठित नंदलाल महर्षि हिन्दी साहित्य सृजन पुरस्कार दिल्ली के प्रतिष्ठित साहित्यकार   लालित्य ललित को दिया जाएगा।उन्होंने  बताया कि राजस्थानी भाषा साहित्य के मौलिक लेखन को सम्मान प्रदान करने के दृष्टिगत  प्रति वर्ष दिया जाने वाला मुखराम सिखवाल स्मृति राजस्थानी साहित्य सृजन पुरस्कार जोधपुर की प्रसिद्ध उपन्यासकारए कथाकार बसंती पंवार  को घोषित किया गया है।

संस्था के  संयुक्त मंत्री रवि पुरोहित ने बताया कि  मुखराम सिखवाल स्मृति राजस्थानी साहित्य सृजन पुरस्कार  बसंती पंवार को उनकी कथा कृति नूवों  सूरज के लिए और नंदलाल महर्षि हिन्दी साहित्य सृजन पुरस्कार व्यंग्यकार लालित्य ललित को चर्चित काव्य पुस्तक हम कितने पास कितने दूर के लिए दिया जाएगा । ये पुरस्कार  14 सितम्बरए 2019 को श्री डूंगरगढ़ में  संस्था के वार्षिकोत्सव के अवसर पर आयोजित समारोह  में प्रदान किए जायेंगे ।
रवि पुरोहित ने बताया कि सभी सम्मानित साहित्यकारों को पुरस्कार स्वरूप ग्यारह हजार रूपये नगद राशि के साथ सम्मान पत्र स्मृति  चिह्न एवं  शॉल अर्पित किए जायेंगे ।