लालू प्रसाद पर जेल में मोबाइल उपयोग करने पर सियासी उफान
April 2, 2019 • राकेश रमण

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक चैनल को दिए इंटरव्यू में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बारे में कहा कि वो तो जेल से भी फोन पर बात करते हैं। जेल से सियासत करते हैं। जेल के नियमों का पालन नहीं करते। उनके इस बयान के बाद बिहार की राजनीति में बवाल मच गया है। वहीं नीतीश के बयान पर रांची के जेल आइजी ने कहा है कि ये आरोप गलत है लालूजी के पास फोन नहीं है, वो बात नहीं करते। जेल के भीतर सुरक्षा कड़ी होती है, जेल के बाहर कैदी की जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होती है। तेजप्रताप ने कहा-हम तो तरस जाते हैं पिता से बात करने को तेजप्रताप यादव ने नीतीश कुमार को जवाब दिया है कि वो लालू यादव को जेल में भी चैन से नहीं रहने देना चाहते।  उन्होंने कहा कि हमें या मेरे परिवार के किसी भी शख्श को लालू जी तो कभी फोन नहीं करते। हम अपने पिता से बात करने को तरसते रहते हैं। मेरे पिता ने हमेशा जेल के नियमों का पालन किया है। उनपर नीतीश कुमार ने ये जो आरोप लगाया है, वो बेबुनियाद है। हमारे पिता इतने बीमार हैं वो क्या सियासत करेंगे? नीतीश कुमार मुख्यमंत्री हैं उन्हें सोच समझकर बोलना चाहिए। तेजप्रताप ने कहा कि नीतीश कुमार को भी पता है कि जेल में फोन से बात नहीं कर सकते। पूरी चेकिंग के बाद ही मुझे भी अपने पिता से मिलने दिया जाता है। हमें पता है कि नीतीश कुमार जी हताश हैं और हताशा मैं ऐसा बयान दे रहे हैं। ऐसा झूठा आरोप मुख्यमंत्री को नहीं लगाना चाहिए।  तेजस्वी ने कहा-नीतीश कुमार बालिका गृह, सृजन मामले पर चुप हैं वहीं, तेजस्वी ने कहा है कि नीतीश कुमार को बालिका गृह मामले में, सृजन घोटाले पर भी बोलना चाहिए वो तो सिर्फ लालू जी और उनके परिवार के बारे में सोचते रहते हैं और बोलते रहते हैं। ये सब झूठा आरोप ये बताता है कि वो लालूजी से कितना डरे हुए हैं। अपनी अंतरात्मा में उन्हें झांकना चाहिए। जदयू ने कहा-लालू करते हैं फोन से बात, जाएंगे चुनाव आयोग तेजप्रताप के बयान के बाद जदयू प्रवक्ता अजय आलोक ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जो कहा है वो पूरी तरह से सच है, वो ऐसे ही किसी पर आरोप नहीं लगाते। राजद नेता भोला यादव का मोबाइल फोन चेक कीजिए तो पता चल जाएगा कि लालू दिनभर कितनी बार लोगों से बात करते हैं। बिना बात किए ही लालू को सबकुछ पता कैसे चल जाता है? हम चुनाव आयोग के पास जाएंगे और लालू यादव के फोन से बात किए जाने की जांच करने की बात कहेंगे। राजद ने कहा-नीतीश कुमार लालूजी से डरते हैंजदयू के बयान पर राजद नेता भाई वीरेंद्र ने तीखा हमला करते हुए कहा कि नीतीश कुमार ने हमारे नेता पर ये झूठा आरोप लगाया है। नीतीश कुमार खुद से पूछे कि वो क्या-क्या करते हैं। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार कैसे हैं ये किसी से छुपा नहीं है? बेबुनियाद आरोप लगाना ये दर्शाता है कि अब इन लोगों की हार तय है और ये लोग जेल में रहने के बावजूद लालू के कद से डरते हैं।