विफल राष्ट्र की ओर बढ़ता पाकिस्तान
August 31, 2019 • देवानंद राय
(देवानंद राय)
पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान इन दिनों सोच रहे होंगे यार बड़ा गलत वक्त पर मैं प्रधानमंत्री बना पहले सर्जिकल स्ट्राइक फिर एयर स्ट्राइक क्या कम था ? जो मोदी जी ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री 370 का एटम बम फोड़ दिया पाकिस्तानी प्रधानमंत्री को समझ नहीं आ रहा करे तो करे क्या ? कभी व्याह पार बंद करते हैं तो कभी एयर स्पेस तो कभी पूरी दुनिया कश्मीर पर कुछ तो बोल कहते हैं पर पूरी दुनिया करही है अगर ज्यादा बोलने को कहोगे तो तुम्हारी पोल खोल देंगे अभी हाल ही में इमरान खान ने कहा कि हर जुम्मा को हर पाकिस्तानी बारह बजे से साढ़े बारह तक जहां हो वहां खड़ा हो यह कौन सा अजीब तरीका है। अपनी दिवालिया हो रही अर्थव्यवस्था पर ध्यान ना देकर हमारे आंतरिक मसले में बेवजह माथापच्ची कर रहा है ।इमरान को लगता है कि वह इस तरह के फालतू मसले उठाकर अपने आवाम को बहका कर रखेंगे जो इन दिनों टूटती अर्थव्यवस्था से परेशान है।व्यापार बंद होने के बाद फल और सब्जियों के दाम आसमान छूने को तैयार हैं और अब तो पाकिस्तान के नेता भी खुलकर बोलने लगे कि जल्द ही पीओके भारत का किस्सा होगा। पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो के पुत्र बिलावल भुट्टो ने यहां तक कह दिया कि ‌पहले हमें श्रीनगर का सपना दिखाते थे पर इधर तो मुजफ्फराबाद भी हाथ से जाने वाला है।उधर पाकिस्तान के रेल मंत्री जिन पर अभी हाल ही में विदेश में अंडे और घूंसे से पड़े थे।वो अक्टूबर में युद्ध का ऐलान कर रहे हैं लगता है सितंबर तक कर्ज का कटोरा भर जाएगा।पाकिस्तानी पीएम और जनरल बाजवा पाकिस्तानी आवाम को 72 हूरों का सपना दिखाकर पीठ पीछे भाड़ में गई अर्थव्यवस्था कहकर मुस्कुरा रहे हैं अपने किस करोड़ की जनता में 7 करोड़ तो भूखे रखने वाला पाकिस्तान इन दिनों अपनी आवाम को "जिंदा रहने का दम नहीं पर जिहादी बनने का गम नहीं" वाला पाठ पढ़ा रहे हैं वर्तमान में पाकिस्तान को हर मंच पर मुंह की खानी पड़ रही है अभी हाल ही में पाकिस्तान में कराची का एयरस्पेस 3 दिन के लिए बंद कर दिया है कारण उसका वह बता रहा है तकनीकी कारण परंतु कारण कुछ और भी हो सकता है क्योंकि वह सीमा पर सेना भी बढ़ा रहा है भारत को चाहिए कि इस समय पूरी सतर्कता बरतें आवश्यकता पड़ने पर भारत को अपने बंदरगाह बंद कर देना चाहिए इस रास्ते से पाकिस्तानी जहाज गुजरते हैं बालाकोट में एयर स्ट्राइक के बाद से पाकिस्तान में 6 महीने के लिए एयर स्पेस बंद कर अपना सात सौ करोड़ का घाटा किया उसके बावजूद भी समझ नहीं है एक तरफ हो पूरी दुनिया से कहता है कि हम आतंकवाद से पीड़ित हैं और आतंकवाद से लड़ रहे हैं दूसरी तरफ सीमा पर तीन सौ से ज्यादा आतंकवादियों को सक्रिय कर रहा है और रेडियो के द्वारा पीओके में रह रहे लोगों को भारत विरोधी भाषणों के द्वारा बरगलाने कोशिश कर रहा है हमारे यहां पुरानी कहावत है कि कर्ज लोग घी पीओ और पाकिस्तान में कर्ज लो आतंकी पैदा करो फिर कर्ज भरने के लिए फिर फिर कर्ज़ लो पाकिस्तान का वित्तीय घाटा 8.9% यानी 3.45 ट्रिलियन तक पहुंच चुका है जो पाकिस्तान की आजादी के बाद सबसे बड़ा घाटा है रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ठीक ही कहा है कि पाकिस्तान पर कश्मीर क्यों रोता है ? कश्मीर तो पाकिस्तान का कभी था ही नहीं हाल ही में फ्रांस में आयोजित जी7 सम्मिट  जिसमें भी प्रधानमंत्री मोदी जी ने कहा कि 1947 से पूर्व पाकिस्तान भारत का ही हिस्सा था तो फिर कश्मीर पर अपना हक जताने का अधिकार कहां से हैं ? चौतरफा घिर चुके पाकिस्तान को अब नया कर्ज मिलना भी आसान नहीं है क्योंकि हाल ही में फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स की एशिया प्रशांत ग्रुप में उसे ब्लैक लिस्ट कर दिया है कुछ दिनों पहले ही पाकिस्तान ने ब्लैक डे मनाने की शुरुआत की थी पर उससे कहीं अधिक फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स ने उसे ही ब्लैक लिस्ट कर दिया सोचा था ब्लैक डे मना कर पूरे विश्व को यह संदेश देंगे देखो हमें अपने दिवालिया होने की फिक्र नहीं पर हमें कश्मीर की बहुत चिंता है हाल ही में आतंकियों को फंडिंग की निगरानी करने वाले फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स की क्षेत्रीय इकाई ने यह कार्रवाई की है पाकिस्तान और पूरे तरीके से चारों ओर से घिर चुका है और आर्थिक रूप से दिवालिया होने के साथ ही एक विफल राष्ट्र के रूप में बढ़ रहा है जहां एक और उसकी आर्थिक हालत खस्ता होती जा रही है वहीं दूसरी ओर पाकिस्तानी सेना के द्वारा लोगों पर अत्याचार और दमन की आवाज में खुद पाकिस्तान से निकल रही है हाल ही में  मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट (एमक्यूएम)के केंद्रीय समन्वय समिति के अनुसार कराची और सिंध प्रांत में बड़े पैमाने पर अत्याचार हो रहे हैं इसीलिए तो अमेरिका में भी ग्रेटर कराची की मांग के लिए भी आवाज उठी थी पाकिस्तान को अगर फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स अक्टूबर में होने वाले बैठक में ग्रे लिस्ट से ब्लैक लिस्ट में डाल देता है तो उनकी अर्थव्यवस्था बिल्कुल खत्म हो जाएगी जो इन दिनों में विदेशी कर्ज के सहारे अपनी सांसे चला रही है क्योंकि ब्लैक लिस्ट में आते ही अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष जिसके पास पाकिस्तान हमेशा कर्ज़ के लिए खड़ा रहता है जिसके लिए जिसे करने के लिए पाकिस्तान में अपने सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक का पाकिस्तान और सेंट्रल बोर्ड आफ रिवेन्यू के प्रमुख ही नहीं बदले ही बल्कि अपना वित्त मंत्री असद उमर को भी हटा दिया था फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स के ब्लैक लिस्ट में आते हैं पाकिस्तान की वित्तीय क्षेत्र चरमरा सकती है 126 शाखाओं वाली सबसे बड़ी अंतरराष्ट्रीय बैंक स्टैंडर्ड चार्टर्ड सहित सिटी बैंक, ड्यूश बैंक अपना कारोबार समेट सकते हैं पाकिस्तान के विदेश मंत्री जो पिछले अनुच्छेद 370 के खत्म होने के मुद्दे को यूनाइटेड नेशन के पास ले जाने को उतावले नजर आ रहे थे उनका कहना है कि अगर पाकिस्तान ब्लैक लिस्ट में आता है तो उसे सालाना 10 अरब डालर का घाटा लग सकता है यह कोई आम बयान नहीं यह पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी का है जो पाकिस्तान को फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स की अहमियत बताता है फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स का गठन 1989 में हुआ था अंतर सरकारी संगठन है जिसकी पहल जी 7 देशों ने 1989 में पेरिस में किया था हाल ही में हुई थी भारत का सदस्य ना होते हुए भी इसमें स्पेशल पार्टनर के रूप में शामिल हो रहा है हुआ था जहां पर प्रधानमंत्री जी ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप स्पष्ट रूप से कहा कि कश्मीर का मुद्दा भारत और पाकिस्तान का है इसमें किसी तीसरे देश को कष्ट नहीं देना चाहते हैं उन्होंने साफ कर दिया कि यह मुद्दा पूरी तरीके से भारत का है और भारत अपनी रणनीति अपने हिसाब से तय करेगा स्पेशल पार्टनर के रूप में शामिल होना भारतीय विदेश नीति की एक बड़ी उपलब्धि है क्योंकि फ्रांस का कहना है कि वह भारत को स्पेशल पार्टनर बनाया है क्योंकि वह उसके  सुनहरे भविष्य को देख रहा है फाइनेंस इलेक्शन टास्क फोर्स के गठन के समय अर्थात 1989 में इसके सदस्य देशों की संख्या मात्र 16 थी जो अब बढ़कर 40 से अधिक हो चुकी है भारत फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स का सदस्य है भारत फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स का शुरुआती मकसद केवल मनी लांड्रिंग को रोकना था लेकिन 2001 में अमेरिका में हुए आतंकी हमले के बाद आतंकी संगठनों को फंडिंग भी इसके निगरानी में आ गया अभी फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स की जेसिका ने पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट किया है वह है एशिया पेसिफिक ग्रुप जो एफएटीएफ क्षेत्रीय इकाई है एफएटीएफ का मुख्यालय फ्रांस की राजधानी पेरिस में है वर्तमान में इसके अध्यक्ष इनके जिंगमिन लीयू है इस कारण अक्टूबर में फ्रांस में होने वाले पूर्ण सत्र अधिवेशन में पाकिस्तान के ब्लैक लिस्ट होने की संभावना पर थोड़ा संदेह भी है क्योंकि वर्तमान में चीन हर जगह पाकिस्तान की पैरवी कर रहा है परंतु हाल ही में ऑस्ट्रेलिया के कैनबरा में हुए फाइनेंस इलेक्शन टास्क फोर्स की एशिया प्रशांत ग्रुप से 22 तथा 23 अगस्त की बैठक में 41 सदस्य मौजूद रहे जहां दो दिनों में सात घंटे तक चली विचार-विमर्श के बाद पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट किया गया वर्तमान में पाकिस्तान के स्टेट बैंक का पाकिस्तान के प्रमुख डॉ. रजा बाकिर की कोई भी दलील एशिया प्रशांत ग्रुप के सामने नहीं टिक सकी वैसे भी मोदी जी ने कई वैश्विक मंच पर फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स को और प्रभावी तथा तेजी से काम करने पर जोर दिया है वैश्विक मंचों पर मिल रहे मोदी जी को सम्मान से पाकिस्तान इतना बौखला चुका है कि हाल ही में यूएई द्वारा उसके सर्वोच्च सम्मान आर्डर ऑफ जायद देने पर पाकिस्तान के सीनेट के अध्यक्ष ने अपनी यूएई की यात्रा ही रद्द कर दी हाल ही में बहरीन में भी मोदी जी को अपना तीसरा सर्वोच्च सम्मान की किंग हमाद ऑर्डर रिनेसंस से सम्मानित किया पिछले पांच सालों में मोदी जी को मुसलमान देशों से छ: सम्मान मिल चुके हैं जिसमें फिलिस्तीन का सर्वोच्च सम्मान ग्रैंड कॉलर ऑफ द स्टेट ऑफ फिलिस्तीन, अफगानिस्तान का सर्वोच्च सम्मान आमीर अमुनल्लाह खान अवार्ड, सऊदी अरब के सर्वोच्च सम्मान किंग अब्दुलजीज साश अवार्ड मालदीव के रूल आफ निशान इजुड्डेनोन, रूस का सर्वोच्च नागरिक सम्मान ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू भी उन्हें मिल चुका है वर्तमान में भारतीय विदेश नीति और कूटनीति का ही परिणाम है कि अनुच्छेद 370 के हटने के बाद सदमे में पहुंचे पाकिस्तान का वैश्विक मंच पर किसी ने साथ नहीं दिया यूनाइटेड नेशन से लेकर विश्व के सभी देशों ने इसे भारत का आंतरिक मामला बताया है हाल ही में मोदी जी बहरीन जाने वाले पहले प्रधानमंत्री बने।पाकिस्तान की हालत हर ओर से खस्ता है फिर भी उधर के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी कह रहे हैं भारत कश्मीर में आग से खेल रहा है। जिन्हें हाल ही में ट्विटर ने अफवाह फैलाने के कारण नोटिस भेजा है। हर जगह से जलील हो रहा पाकिस्तान खुद को हर दिन हर नए तरीके से जलील होने और बेइज्जत होने का रास्ता खुद ढूंढ रहा है। अभी उसने हाल ही में इंडियन प्रोडक्ट को बायकॉट करने का एक नया मजाकिया कार्यक्रम चलाया सोशल मीडिया पर कुछ लोगों ने पाकिस्तानियों को सलाह दी है कि वह पानी भी बायकॉट करें क्योंकि पानी भी हिंदुस्तान से ही जाता है और तो और कईयों ने लिखा कि सबसे पहले पाकिस्तान को खुद को बायकॉट करना चाहिए क्योंकि वह हिंदुस्तान का ही प्रोडक्ट उधर हर शुक्रवार को पूरे पाकिस्तान को ऐसा लगेगा कि लड़ाई छिड़ चुकी है क्योंकि राष्ट्रगान के साथ युद्ध वाला सायरन जी बजेगा शायद इमरान खान पाकिस्तानी प्रधानमंत्री जनरल बाजवा पाकिस्तान के आवाम को पहले से ही युद्ध झेलने की प्रैक्टिस करा रहे हैं।