व्यंजन प्रतियोगिताओं व शैफ के टॉक शो में भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं जयपुरवासी
March 16, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो

                                          रसोई 2019

जयपुर। जल महल के सामने राजस्थान हाट पर चल रहे रसोई 2019: स्वाद राजस्थान का उत्सव में मिठाई-मसालों की खरीददारी के साथ ही जयपुराइट्स शैफ समीर गुप्ता के टॉक शो और वहां पर आयोजित व्यंजन प्रतियोगिताओं में भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं। शैफ समीर गुप्ता रसोई उत्सव में उत्सव में आने वालों को कुकरी के एक से एक टिप्स दे रहे हैं वहीं सीनियर सिटीजन्स की वैरायटी ऑफ खीर में बुजुर्ग महिलाओं ने पूरे उत्साह के साथ हिस्सा लिया। उद्योग आयुक्त डॉ. कृृष्णाकांत पाठक ने बताया कि रसोई 2019 को बहुआयामी व बहुउपयोगी बनाने के लिए कई प्रयोग किए गए हैं। उत्सव स्थल पर जहां एक और खाद्य तेलों और मसालों की गुणवत्ता को डिस्प्ले कर दर्शाया गया है वहीं राजस्थान हाट पर एक एक मसाले के उदभव से लेकर वर्तमान तक की यात्रा को जगह जगह फ्लेक्सी  होर्डिंग्स लगाकर दर्शाया गया है ताकि मसालों और मिठाइयों की विशेषताओं और उनकी गुणवत्ता और लाभदायकता की जानकारी दी जा सके। रसोई उत्सव को पूरी तरह से राजस्थानी संस्कृति से सराबोर किया गया है। एक स्टॉल पर प्रतिभागी चाक पर मिट््टी के पात्रों पर आकार दे रहा हैं वहीं अन्य स्टॉल पर पीली सरसों के गुणों से अवगत कराया जा रहा है। रसोई उत्सव में जहां एक और जयपुरवासी प्रसिद्ध मिठाइयों के स्वाद का आनंद ले रहे हैं वी 2 फाइन डाइनिंग के अक्षत पाटनी ने आयुक्त डा. पाठक को नींबू आदि से तैयार राजस्थानी पेय, तंदूरी पिज्जा के साथ ही राजस्थानी सिगडी डोसा आदि बनाने की प्रक्रिया की जानकारी दी वहीं लहरियां गुलाबजामुन, कोटा कचोरी, नसीराबाद के कढ़ी कचोडा के स्टॉल पर लोग स्वाद का चटकारा ले रहे हैं। कोटा सहकारी उपभोक्ता भण्डार के स्टॉल पर लोग साबुत मसालों, दाल, चावल, बेसन आदि के खरीद के लिए अपनी बारी का इंतजार करते देखे जा रहे हैं। कोटा भण्डार से पहले दिन ही एक लाख से अधिक के मसालों की बिक्री हुई वहीं जोबनेर का कलाकंद पूरा खत्म होगया। दौसा के डोयटा, गंगापुर का खीर मोहन, जैसलमेर के घोटुवा लड््डू की उपलब्धता से अधिक मांग देखी जा रही हैं ।