शांतिपूर्ण व सुरक्षित मतदान करवाना हर अधिकारी का है प्रथम दायित्व: जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी
March 18, 2019 • कमलेश पांडे
गाजियाबाद। सोमवार को जिला निर्वाचन अधिकारी सह जिला मजिस्ट्रेट रितु माहेश्वरी ने आईटीएस डैन्टल कालेज, मोहननगर के सभागार में लोक सभा सामान्य निर्वाचन-2019 को निष्पक्ष, शान्तिपूर्ण व सकुशल सम्पन्न कराये जाने की तैयारियों के सम्बन्ध में सेक्टर और जोनल मजिस्ट्रेट के साथ महत्वपूर्ण बैठक की। 
 
इस अवसर पर उन्होंने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग के सख्त निर्देश हैं कि जोनल व सेक्टर मजिस्ट्रेट अपने-अपने क्षेत्रों में भ्रमणशील रहकर प्रत्येक बूथ व सेन्टर का निरीक्षण करें। इस क्रम में जिन मतदेय स्थलों व मतदान केन्द्रों पर मूलभूत सुविधाओं की कमी दिखे, उससे  सम्बन्धित जानकारियों से उप जिलाधिकारियों को अवगत कराएं, जो नोडल विभाग से समन्वय बनाकर उक्त लम्बित कार्य करवायेंगे।  इसके साथ ही जिलाधिकारी ने नगर निगम, नगर पालिकायें, बेसिक शिक्षा विभाग को निर्देश दिया कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में पड़ने वाले मतदान केन्द्रों व बूथों पर बूथ नम्बरिंग, विद्युत, शौचालय, पेयजल तथा रैम्प की व्यवस्थायें शीघ्र ही सुनिश्चित करवाएं। 
 
जिलाधिकारी ने आगे कहा कि लोक सभा सामान्य निर्वाचन-2019 को शान्तिपूर्ण एवं सुरक्षित वातावरण में सम्पन्न कराना हर अधिकारी का पहला दायित्व है। उन्होंने जोनल व सेक्टर मजिस्ट्रेट को निर्देश दिये कि संवेदनशील व अति संवेदनशील बूथों पर विशेष फोकस रखें। ऐसे प्रभावी क्षेत्र जहां चुनाव में गड़बडी की आशंका है, जहां दबगों द्वारा मतदाताओं को डराये धमकाये जाने की उम्मीद है, उनकी तुरन्त रिर्पोट करें। ऐसे संवेदनशील बूथ जहां गत निर्वाचन में कोई घटना हुई हो, मेरे संज्ञान में लाएं। 
 
आगे उन्होंने सभी अधिशासी अधिकारी, नगर पालिका परिषद व नगर निगम के अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिन नगर पालिकाओं व नगर निगम में स्थित मतदान केन्द्रों व बूथों में जोनल व सेक्टर मजिस्ट्रेट कमियां बता रहे हैं, उन्हें संज्ञान में लेकर व्यवस्थाएं सुनिश्चित करायें।मतदाता सूची सभी जोनल व सेक्टर मजिस्ट्रेट के पास उपलब्ध रहनी चाहिए। क्योंकि चुनाव डयूटी महत्वपूर्ण डयूटी है, इसलिए प्रत्येक चीज को बारीकी से देखें। अगले भ्रमण में मतदान केन्द्रों पर आपको इस समय की कमियां नहीं दिखनी चाहिए। 
 
जिलाधिकारी ने जोनल मजिस्ट्रेट व सेक्टर मजिस्ट्रेट को निर्देश देते हुये कहा कि निर्वाचन के दौरान हर गतिविधि पर सर्तक रहें। आदर्श आचार संहिता का कही उल्लंघन तो नहीं हो रहा, ये भी ध्यान रखें। आपके द्वारा पोलिंग पार्टियों को सभी प्रारूप ठीक से समझाया जाये। मतदाता पहचान पत्र के अलावा और किन-किन विकल्पों से मतदान किया जा सकता है, यह भी बता दें। संवेदनशील व अति संवेदनशील बूथों की सूची आपके पास उपलब्ध रहनी चाहिये। 
 
प्रशिक्षण के अन्त में उन्होंने कहा कि सभी उप जिलाधिकारी, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद, नगर निगम के अधिकारी सभी मतदेय स्थलों व मतदान केन्द्रों पर बूथ नम्बरिंग, विद्युत, शौचालय, पेयजल, व रैम्प की व्यवस्था 25 मार्च तक पूर्ण कराना सुनिश्चित करें। 
 
जिला निर्वाचन अधिकारी सह जिलाधिकारी द्वारा आईटीएस मोहननगर में चल रहे ईवीएम व बीबीपेट से सम्बन्धित मतदान कर्मियों के प्रशिक्षण की समीक्षा भी की गयी। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने सभी निर्वाचन से सम्बन्धित कर्मचारियों व अधिकारियों को निर्देशित किया कि लोकतंत्र के इस महा त्यौहार का सफल क्रियान्वयन कराना सुनिश्चित करें, जिससे आम नागरिक निर्भिक होकर अपने मताधिकार का प्रयोग कर सके।
          
बैठक में नगर आयुक्त दिनेश चंद्र सिंह, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व, अपर जिलाधिकारी नगर, सभी उप जिलाधिकारी अपर उप जिलाधिकारी व नौडल अधिकारी उपस्थित रहे।