शिक्षक दिवस के अवसर पूर्वी दिल्ली नगर निगम द्वारा 13 शिक्षकों को किया गया सम्मानित 
September 5, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो

दिल्ली। पूर्व राष्ट्रपति और महान शिक्षाविद, डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिवस और शिक्षक दिवस के अवसर पर पूर्वी दिल्ली नगर निगम द्वारा 'निगम शिक्षक सम्मान समारोह' का आयोजन किया गया। उद्योग सदन, पटपड़गंज स्थित निगम मुख्यालय के सभागार में आयोजित इस कार्यक्रम में पूर्वी दिल्ली से सांसद गौतम गंभीर एवं उत्तर-पूर्वी दिल्ली से सांसद एवं दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। पूर्वी दिल्ली की महापौर अंजु उपमहापौर संजय गोयल नेता सदन निर्मल जैन स्थायी समिति के अध्यक्ष संदीप कपूर पूर्व महापौर बिपिन बिहारी सिंह शिक्षा समिति के अध्यक्ष राजकुमार बल्लन वार्ड समिति (शाहदरा दक्षिण) अध्यक्ष  कंचन महेश्वरी के अलावा निगमायुक्त, डॉ. दिलराज कौर; अपर निदेशक ब्रिजेश सिंह एवं सुश्री अल्का शर्मा एवं कई निगम पार्षद भी उपस्थित थे। इनके अतिरिक्त निगम के वरिष्ठ अधिकारी और निगम शिक्षक एवं स्कूली बच्चों ने भी कार्यक्रम में भाग लिया। 

कार्यक्रम का शुभारंभ निगम अध्यापिकाओं द्वारा वन्दे मातरम और सरस्वती वंदना की प्रस्तुति करने के साथ हुआ। इसके बाद निगम शिक्षिकाओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किए गए जिनमें राजस्थान व पंजाब का मन-मोहक लोकनृत्य प्रमुख रहा। इस अवसर पर 13 निगम शिक्षकों को वर्ष 2019 के लिए 'निगम शिक्षक सम्मान' से सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर सांसद, श्री गौतम गंभीर ने कहा कि शिक्षक सम्मान के पात्र हैं क्योंकि विद्यालय का स्तर किसी विद्यालय के भवन पर नहीं ,बल्कि उसके शिक्षकों पर निर्भर करता है। उन्होने सभी शिक्षकों को शिक्षक दिवस की बधाई दी।

सांसद मनोज तिवारी ने सभी निगम शिक्षकों को शिक्षक दिवस की बधाई दी। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार द्वारा पूर्वी निगम को फंड नहीं दिया जा रहा है और आर्थिक तंगी के बावजूद पूर्वी निगम द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में सराहनीय कार्य किए जा रहें है। शिक्षा के स्तर में निरंतर सुधार आ रहा है और इसके लिए सभी निगम शिक्षक बधाई के पात्र हैं। मनोज तिवारी ने अनुबंधित शिक्षकों के संबंध में बोलते हुए कहा कि हमारी इच्छा है कि अनुबंध के आधार पर आधारित नियुक्त शिक्षकों को निगम द्वारा जाॅब गारंटी दी जाए ताकि वे अविलंब अपनी सेवाएं निगम को दे सकें।

महापौर अंजु ने कहा कि विषम परिस्थितियों में निगम शिक्षक जितनी जिम्मेदारी ,लगन व समर्पण के साथ अपना काम कर रहे हैं, वह बेहद प्रशंसनीय है। उन्होंने कहा कि पूर्वी निगम द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण कार्य किए जा रहें हैं जैसे सभी निगम विद्यालयों में सी.सी.टी.वी एवं आर.ओ लगाने की प्रक्रिया जारी है। कक्षाओं में डुअल डेस्क, डिसप्ले बोर्ड लगाने तथा नर्सरी कक्षाओं के लिए फर्नीचर खरीदने का कार्य भी प्रक्रियाधीन है। इसके अलावा महापौर ने निगम शिक्षक सम्मान की राशि 7000/. रुपये से बढ़ाकर 10,000/- रुपये तथा क्षेत्रीय पुरस्कार 1,500/ रुपये से बढ़ाकर 5,000/ रुपये करने की घोषणा की।

उपमहापौर संजय गोयल ने निगम पुरस्कार से सम्मानित शिक्षकों को शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि आज देश उन्नति कर रहा है तो इसमें शिक्षकों के योगदान को अनदेखा नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि पूर्वी निगम के शिक्षक जिम्मेदारी के साथ अपने दायित्व का निर्वहन कर रहें है और इसके लिए सभी शिक्षक बधाई के पात्र हैं।

नेता सदन निर्मल जैन एवं स्थायी समिति के अध्यक्ष संदीप कपूर ने भी निगम पुरस्कार से सम्मानित शिक्षकों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि शिक्षक ही समाज की नींव तैयार करते हैं और इसी नींव के बूते देश और समाज खड़ा होता है।

शिक्षा समिति के चेयरमैन राजकुमार बल्लन ने बताया कि निगम शिक्षक सम्मान से सम्मानित 13 निगम शिक्षकों के अलावा 3 निगम शिक्षकों को राज्य शिक्षक सम्मान से सम्मानित किया जा रहा है उन्होंने सभी सम्मानित शिक्षकों को शुभकामनाएं दी और कहा कि निगम स्कूलों में शिक्षक बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए बेहद रचनात्मक ढंग से काम कर रहे हैं।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अपर आयुक्त अल्का शर्मा ने कहा कि शिक्षक समाज का सबसे महत्वपूर्ण व्यक्ति होता है जो बच्चे के व्यक्तित्व का निर्माण करता है। उन्होने सभी निगम शिक्षकों को बधाई दी।