शिक्षा नीर क्षीर में अंतर करने की दृष्टि विकसित करती है - डॉ कामिनी वर्मा
March 27, 2019 • शशिधर शुक्ला

भदोही। काशी नरेश राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय ज्ञानपुर  में राष्ट्रीय सेवा योजना के तीसरे दिन शिविरार्थियों ने चकवा चंदेल ग्राम सभा में जागरूकता रेली निकाली। रैली में मतदान महादान,स्वच्छता अपनाओ स्वास्थ्य बचाओ, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ,जल है तो जीवन है के नारों से सारा वातावरण  गुंजित हो उठा।
इस अवसर पर आयोजित बौद्धिक गोष्ठी में समाज से अन्धविश्वास दूर हटाने पर चर्चा हुई ।छात्र सूरज ने जल संरक्षण के लिए प्रेरित किया ,आकाश ने युवाओं द्वारा बुजुर्गों की देखभाल न किये जाने पर चिंता व्यक्त की।
  मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित डॉ अमित गोयल ने अपने व्यख्यान में कहा विद्वान सर्वत्र सम्मान पाता है उसको देश काल की सीमा में नही बांधा जा सकता ।शिक्षा व्यक्तित्व का निर्माण करने वाली सकारात्मक होनी चाहिये।कार्यक्रम अधिकारी डॉ कामिनी वर्मा ने शिक्षा व्यक्ति में तीसरे नेत्र के सामान होती है जो नीर क्षीर में अंतर करने की दृष्टि विकसित करती। डॉ अवधेश सिंह यादव ने कहा चुनाव में निष्पक्ष और प्रलोभन रहित होकर मतदान करना चाहिए।