संभावनाओं से भरा है ग्राफ़िक्स में बुक इलस्ट्रेशन का क्षेत्र
July 9, 2019 • अमृता राज सिंह

इलस्ट्रेशन, ग्राफ़िक डिजाइनिंग का एक ऐसा हिस्सा जिसके द्वारा कहानी, कविता या समाचारपत्र लेख की स्पष्ट व्याख्या करने और विभिन्न मुद्दों को लेकर कार्टून बनाने जैसे कार्य किये जाते हैं | मार्केटिंग में एक कहावत खूब चलता है – 'जो दिखता है , वह बिकता है' | बच्चों को कॉमिक कैरेक्टर के ज़रिये पढ़ाने के लिए आजकल इलस्ट्रेशन की जरुरत होती है | विभिन्न कहानियों को बुक इलस्ट्रेशन और ग्राफ़िक्स के माध्यम से बच्चों को आसानी से समझाने में मदद मिलती है | इस तरह के अनेक बुक पब्लिश होने के कारण प्रोफेशनल्स की मांग बढ़ गयी है |

कंप्यूटर गेम तथा इलस्ट्रेटेड बुक और कॉमिक उद्योग के विकास के फलस्वरूप, इलस्ट्रेशन और ग्राफ़िक डिजाईन लोकप्रिय और लाभप्रद करियर क्षेत्र बनता जा रहा है | जिस तरह डॉक्टर, इंजीनियर और सीए एक बेहतरीन करियर के रूप में जाना जाता है अब वैसे ही इलस्ट्रेशन और ग्राफ़िक डिज़ाइन क्षेत्र को भी पहचान मिल रही है तथा हजारों छात्र और छात्राएं इसे एक करियर विकल्प के रूप में लेकर आगे बढ़ रहे हैं | इसमें भी अनेक क्षेत्र हैं जिसमें बुक इलस्ट्रेशन एक नया और उभरता हुआ क्षेत्र है | भारत में किताब पढ़ने वालों की संख्या अधिक है और लोग प्रिंट एवं डिजिटल किताबें पढ़ना पसंद करते हैं | बेहतरीन इलस्ट्रेशन और डिजाईन द्वारा कोई भी बुक ज्यादा आकर्षक लगती है |

टाइपोग्राफी, फोटोग्राफी और इलस्ट्रेशन का इस्तेमाल करते हुए विजुअल कम्यूनिकेशन और कम्यूनिकेशन डिजाइन का आधार ग्राफ़िक्स है। बुक इलस्ट्रेटर, विचारों और संदेशों को कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर या हाथ से संकेतों, चित्रों और शब्दों के सहारे दिखाता है जिससे पाठक को समझने में आसानी होती है और अच्छी लगती है । आमतौर पर इलस्ट्रेशन और ग्राफ़िक्स का उपयोग कॉर्पोरेट डिजाइन (लोगो और ब्रांडिंग), संपादकीय डिजाइन (पत्रिकाएं, अखबार और पुस्तकें), पर्यावरणीय डिजाइन, विज्ञापन, ब्रोशर्स, कॉर्पोरेट रिपोर्ट, वेब डिजाइन, कम्यूनिकेशन डिजाइन, उत्पादों की पैकेजिंग और डिजाईन में किया जाता है। यह उत्पादों की मार्केटिंग और उन्हें बेचने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। ग्राफिक डिजाइनर द्वारा तैयार किए गए अच्छे डिजाइन से प्रोडक्ट की शानदार मार्केटिंग की जा सकती है।

ग्राफिक डिजाइनर्स को नए सॉफ्टवेयर्स और कम्प्यूटर तकनीक की ताजा जानकारी होनी चाहिए, जिससे वे प्रतिस्पर्धा में बने रहें। डिजाइनर्स में द एडोब क्रिएटिव सूट सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। आपको कम से कम इन तीन सॉफ्टवेयर्स में महारत हासिल होनी चाहिए- फोटोशॉप, इनडिजाइन और इलस्ट्रेटर। हर डिजाइनर को पता है कि इलस्ट्रेटर का उपयोग लोगो डिजाइनिंग, बुक इलस्ट्रेशन और वेक्टर ग्राफिक्स के लिए, फोटोशॉप का इमेज एडिटिंग और वेब डिजाइन के लिए तथा इनडिजाइन का प्रिंट के लिए किया जाता है। डिजाइनर का क्रिएटिव होना बहुत जरूरी है, तभी वह सफलता प्राप्त कर सकता है। क्रिएटिविटी के लिए लगातार अभ्यास जरूरी है।

इस विषय में चिल्ड्रेन बुक ट्रस्ट से सम्बंधित शंकर्स एकेडमी ऑफ़ आर्ट्स एंड बुक इलस्ट्रेशन के निदेशक ने बताया कि – “पिछले 5 वर्षों में बुक इलस्ट्रेशन इंडस्ट्री में तेजी आई है | आज डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म की अधिकता और वर्चुअल दुनिया के बढ़ते दायरे ने ग्राफ़िक्स, इलस्ट्रेशन को आवश्यक बना दिया है | साथ ही एनीमेशन के बढ़ते मार्केट ने बेहतरीन करियर बनाने का मौका दिया है | यह कला का विज्ञान है जहाँ अपनी रचनात्मकता और तकनीकी ज्ञान से बहुत आगे जाया जा सकता है |”

इनके अवसर विशेष डिजाइन सेवाओं, विज्ञापन, जन संपर्क और संबंधित सेवाओं, समाचार पत्र, पत्रिकाओं, पुस्तकों और निर्देशिकाओं के प्रकाशकों तथा प्रिंटिंग और उससे संबंधित सहायक गतिविधियों में हैं। ग्राफिक डिजाइन और इलस्ट्रेशन एक्सपर्ट्स डिजाइन स्कूल्स, कॉलेज और विश्वविद्यालयों में पढ़ाते भी हैं। कुछ स्वतंत्र रूप से इस काम को करते हैं, पर जो विशेषज्ञता प्राप्त ग्राफिक डिजाइन फर्म में काम करते हैं, वे आम तौर पर डिजाइन टीम का हिस्सा होते हैं। एक अनुमान के अनुसार वर्ष 2024 तक बुक इलस्ट्रेशन के काम में  21 फीसदी का इजाफा होने की उम्मीद है। इंटरनेट के बढ़ते हुए इस्तेमाल में कंपनियां अपनी डिजिटल मौजूदगी को बढ़ाने में जुटी हुई हैं और ग्राफिक डिजाइनर्स को बुक इलस्ट्रेशन, वेबसाइट्स के प्रभावी लेआउट बनाने का जिम्मा दिया जा रहा है। इस फील्ड में आपको आगे बढ़ने के कई अवसर मिलते हैं। बच्चों को कॉमिक कैरेक्टर और विसुअल इतने पसंद होते हैं की उनको फॉलो भी करने लगते हैं | इस रुझान को ही ध्यान में रखते हुए बुक इलस्ट्रेशन एक बेहतरीन करियर विकल्प के रूप में उभर रहा है | विभिन्न पब्लिकेशन हाउस में ऐसे पेशेवरों की भारी मांग है |

जहां तक शैक्षणिक योग्यता का सवाल है, इसमें नौकरी पाने के लिए ग्राफिक डिजाइन या संबंधित क्षेत्र में स्नातक की जरूरत होती है । हालांकि किसी भी क्षेत्र के स्नातक छात्र इलस्ट्रेशन और ग्राफिक में तकनीकी प्रशिक्षण हासिल कर कॅरियर शुरू कर सकते हैं। ग्राफिक डिजाइनिंग कला और तकनीक का मिला-जुला रूप है, इसलिए कला में डिग्री-डिप्लोमा हासिल कर चुके छात्र इसका केवल छह महीने का कोर्स कर अच्छा पैसा और नाम कमा रहे हैं। वैसे 12वीं के बाद भी इस कोर्स को कर सकते हैं। आजकल पब्लिशिंग कंपनियों की वर्तमान जरूरतों पर आधारित प्रोजेक्ट्स के अनुरूप इलस्ट्रेशन पढ़ाया और सिखाया जाता है।बुक इलस्ट्रेशन के लिए विश्लेषण क्षमता, कलात्मक गुण, कम्प्यूटर की जानकारी, रचनात्मकता और समय-प्रबंधन की क्षमता होनी चाहिए।