सेंटमेरी स्कूल में गार्ड ने बंदूक की बट से अभिभावक को पीटा
March 11, 2019 • कमलेश पांडे
गाजियाबाद। कविनगर थाना क्षेत्र के शास्त्रीनगर स्थित सेंट मैरी स्कूल में सोमवार की सुबह जिला स्तरीय शुल्क नियामक कमेटी की जानकारी लेने गए एक छात्र के पिता जतिन त्यागी को स्कूल में तैनात गार्ड ने बंदूक की बट से पीटा, जिससे उनकी हालत बिगड़ गई और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। खबर है कि स्कूल की प्रिंसिपल के मौखिक निर्देश पर यह सुनियोजित हमला हुआ है ताकि अन्य अभिभावक भयभीत हो जाएं। 
 
बताया गया है कि घायल अभिभावक श्री त्यागी को समीपस्थ सर्वोदय अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनकी हालत खतरे से बाहर है। वह हृदय रोग के मरीज भी हैं। जानकारों का कहना है कि पूर्व में भी स्कूल प्रबंधक की मनमानी के चलते एक छात्र की माता ने खुदकुशी का असफल प्रयास किया था, जिसकी प्राथमिकी भी थाने में दर्ज करवाई गई थी, जिसकी।पुलिस जांच मंथर गति से चल रही है ताकि मामला रफा दफा किया जा सके। हालांकि पुलिस ने इससे इनकार किया है।
 
प्राप्त जानकारी के मुताबिक, कविनगर थाना अंतर्गत शास्त्रीनगर बी ब्लाक निवासी जतिन त्यागी नौकरी पेशा वाले अभिभावक हैं। उनका बच्चा उक्त स्कूल में पढ़ता है जो दूसरी से तीसरी कक्षा में आया है। उन्होंने कहा कि उन्हें कहीं से एक पंफलेट मिला था जिसमें जानकारी दी गई थी कि जिला स्तरीय शुल्क नियामक कमेटी ने फीस वापसी का निर्णय लिया है। लिहाजा, वह सुबह साढ़े नौ बजे अपने बच्चे के साथ सम्बन्धित जानकारी लेने के लिए स्कूल गए थे। लेकिन उन्हें गार्ड ने अंदर नहीं जाने दिया और अनायास धक्का-मुक्की करने लगा। इस बात का जब उन्होंने विरोध किया तो गार्ड ने हाथापाई की और पीछे धकेल दिया। इस बीच वह प्रधानाचार्या के पास शिकायत करने के लिए जाने लगे तो उन्हें बंदूक की बट से पीटा, जिससे वह गिर पड़े। इस दौरान प्रधानाचार्या ने भी उनसे अभद्रता की और स्कूल से बाहर करने को कहा। उनके इस व्यवहार से उन्हें सदमा पहुंचा।
 
इस सम्बन्ध में जब जतिन त्यागी से पूछा गया तो उन्होंने  कहा कि वह हृदय रोग का मरीज हैं। जिसके चलते सीने पर बट लगते ही वह गिर पड़े। और उनका रक्तचाप बढ़ गया। इसी दौरान लोगों का हुजूम वहां लगने लगा। मौके पर पेरेंट्स टीचर एसोसिएशन के पदाधिकारी भी वहां आ गए। फिर उन्हें सर्वोदय अस्पताल में भर्ती कराया गया। इस बाबत एसोसिएशन के पदाधिकारी विवेक त्यागी ने कहा कि इस मामले में जतिन त्यागी की तरफ से कविनगर थाने में प्राथमिकी दर्ज करवाई गई है।
 
गौरतलब है कि सेंट मेरी स्कूल के प्रबंधक हमेशा से ही विवादों के घेरे में रहे हैं। जानकारों का कहना है कि गत चार माह पहले भी प्रबंधक की अभद्रता के कारण एक महिला अभिभावक ने खुदकुशी का असफल प्रयास किया था जिसकी रिपोर्ट भी थाने में दर्ज कराई गई थी। पुलिस इस मामले की कछुआ गति से जांच कर रही है।
 
बता दें कि जिलास्तरीय शुल्क नियामक कमेटी ने सेंट मेरी स्कूल, शास्त्री नगर को फीस वापसी का निर्देश दिया  था और स्कूल पर फीस वृद्धि को लेकर एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया। सोमवार को जब अभिभावक जतिन त्यागी अपने बच्चे की फीस वापसी के लिये स्कूल गये तो स्कूल की प्रधानाचार्या के आदेश पर गार्ड द्वारा जानलेवा हमला किया गया, जिसके बाद अभिभावक को तुरंत सर्वोदय हॉस्पिटल एडमिट कराया गया। जिसे प्रथमिक उपचार के 2 घन्टे बाद छुट्टी दे दी गई।
 
इस घटना का तुरंत संज्ञान लेते हुये गाजियाबाद पेरेंट्स एसोसिएशन और सेंट मेरी पेरेंट्स एसोसिएशन की टीम स्कूल पहुंची और तुरंत पुलिस को बुलाया गया। हालांकि मौके का फायदा उठाकर गार्ड स्कूल से फरार हो गया।स्कूल की प्रधानाचार्या और गार्ड के खिलाफ एफआईआर के लिये कविनगर थाने में आवेदन दे दिया गया है। आरोप है कि प्रधानाचार्या ने पुलिस प्रशासन की भी एक नहीं सुनी और फीस वापसी के आदेश को  मानने से साफ इनकार कर दिया। लिहाजा, अभिभवकों ने निर्णय लिया है कि अगर शुक्रवार तक फीस वापसी नहीं की गई तो शनिवार से अभिभावक स्कूल के गेट पर धरना देंगे।