स्टेलर वैल्यू चेन ने खरीदा पटेल रोडवेज बिजनेस
May 1, 2019 • शशिधर शुक्ला
दिल्ली।  भारत की सबसे तेजी से बढ़ती लॉजिस्टिक्स सर्विसेस कंपनी स्टेलर वैल्यू चेन सॉल्युशंस प्रा.लि. (स्टेलर) ने  पटेल रोडवेज के बिजनेस के 100 प्रतिशत शेयर खरीदने की घोषणा की है। पटेल रोडवेज, एक जानी-पहचानी ट्रांसपोर्टेशन कंपनी पटेल इंटिग्रेटेड लॉजिस्टिक्स लिमिटेड की सड़क परिवहन शाखा है। स्टेलर की 100 प्रतिशत मालिकाना हक वाली सहायक कंपनी इनोवेटिव  लॉजिस्टिक्स प्रा.लि. पीआईएलएल के पटेल रोडवेज डिविजन का अधिग्रहण करेगा, जिसमें एक्सप्रेस, ट्रक से कम लोड (एलटीएल) और फुल ट्रक लोड (एफटीएल) सेग्मेंट्स शामिल हैं। यह पूरी तरह से नगद डील होगी।
स्टेलर ने इससे पहले केल्विन कोल्ड चेन लॉजिस्टिक्स प्राइवेट लिमिटेड और इनोवेटिव लॉजिस्टिक्स सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड का अधिग्रहण किया था। पटेल रोडवेज का अधिग्रहण स्टेलर की ऑपरेटिंग क्षमताओं को मजबूत करेगा और इसकी पहुंच को 350 से अधिक शाखाओं के जरिये 15,000 से अधिक पिन-कोड्स पर सेवा देने वाली कंपनी बनाएगा। नया अधिग्रहण स्टेलर के कॉन्ट्रैक्ट लॉजिस्टिक्स की वेयरहाउसिंग क्षमताओं को भी बढ़ाएगा और ई-कॉमर्स, कंज्यूमर रिटेल, एफएमसीजी, ऑटो, फार्मा, टेलीकॉम, इंडस्ट्रियल, केमिकल्स और इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्रों में अपने ग्राहकों के लिए वैल्यू चेन ट्रांसफॉर्मेशन को सक्षम बनाता है।
स्टेलर वैल्यू चेन सॉल्युशंस प्रा.लि. के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर  अंशुमान सिंह ने कहा, “स्टेलर वैल्यू चेन में हमारा निरंतर प्रयास हमारे सभी ग्राहकों के लिए वैल्यू चेन ट्रांसफॉर्मेशन को आर्थिक तौर पर किफायती बनाना है। यह न केवल हमारे संबंधों में कैटेलिस्ट का काम करेगा बल्कि स्टेलर इंडिया को विश्व स्तर के बुनियादी ढांचे और टेक्नोलॉजी इनेबल्ड प्रोसेस में सक्षम बनाएगा। 2016 में स्थापना के बाद से पटेल रोडवेज हमारा तीसरा अधिग्रहण है। अमेरिका की निजी इक्विटी फर्म वारबर्ग ने 2016 में मैजोरिटी हिस्सेदारी हासिल करने के लिए कंपनी में 125 मिलियन डॉलर का का निवेश किया है।”
उन्होंने यह भी कहा कि “स्टेलर ने इससे पहले केल्विन कोल्ड चेन लॉजिस्टिक्स प्रा.लि. और इनोवेटिव लॉजिस्टिक्स सर्विसेज प्रा.लि. का अधिग्रहण किया था। हम देश भर में एक्सप्रेस और एलटीएल डिस्ट्रिब्यूशन क्षेत्र में अपनी हिस्सेदारी को बढ़ाने का इरादा रखते हैं। पटेल रोडवेज एक बेहद प्रतिष्ठित ब्रांड है और इस सौदे के साथ स्टेलर की पहुंच अब 15,000 से अधिक पिन कोड्स तक हो जाएगी।  कंपनी ने अब तक इन तीन अधिग्रहणों पर करीब 200 करोड़ रुपए खर्च किए हैं।  हम इनऑर्गेनिक और ऑर्गेनिक विकास, दोनों की उम्मीद लगा रहे हैं।''  
पटेल इंटिग्रेटेड लॉजिस्टिक्स के वाइस चेयरमैन श्री आरिफ पटेल ने इस अवसर पर कहा, “हमें गर्व है कि हमने पिछले कुछ दशकों में बड़ी संख्या में ग्राहकों के साथ संबंधों को मजबूत बनाया और एलटीएल उद्योग में एक अग्रणी ब्रांड के रूप में पटेल रोडवेज को विकसित किया।