बिहार में आरके सिन्हा की पदयात्रा देश के बदलाव का दे रहा संदेश
October 13, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो

जमुई । भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महात्मा गांधी के सिद्धांतों पर आधारित कार्यो को धरातल पर उतारना शुरू किया है तो उनके इन साहसिक कार्यो का संदेश बिहार के सुदूरवर्ती ग्रामीण इलाकों से लेकर शहरी इलाकों तक सुनामी की तरह फैलने लगा है।

महात्मा गांधी के रामराज की परिकल्पना अब मोदी के सुराज के रूप में साकार होते दिखने लगी है और इस साकार होते सपने का संदेश बिहार की धरती पर  जन जन तक पहुंचाने को लेकर भाजपा के राज्यसभा सांसद आर के सिन्हा लम्बी पदयात्रा पर निकल पड़े हैं।

बापू का रामराज मोदी का सुराज के शंखनाद के साथ चंपारण की धरती भितिहरवा से गत दो अक्टूबर से शुरू हुई पदयात्रा बेतिया,चंपारण, मोतिहारी,सीतामढ़ी और मुजफ्फरपुर के बाद अब राजगीर, मुंगेर होते हुए जमुई पहुंच गई है।

राज्यसभा सांसद आर के सिन्हा की पदयात्रा को बिहार में अप्रत्याशित और अभूतपूर्व जन समर्थन मिल रहा है। उनकी पदयात्रा के दौरान जगह जगह आयोजित होने वाली जनसभाओं में भाजपा के  सम्बंधित जिलों के जिलाध्यक्ष, जिला और मंडलों के पदाधिकारी,भाजपा के विधायक,पूर्व विधायक,भाजपा के विभिन्न मंच मोर्चो के प्रमुख नेता, आम आदमी और स्थानीय लोगो की  भारी भीड़ जुट रही है। उनकी सभाओं में आये लोग  आरके सिन्हा की एक झलक पाने के लिए घण्टो इंतजार करते दिख रहे हैं।

बिहार की धरती पर जारी पदयात्रा में आरके सिन्हा को फूल मालाओं के साथ भाजपा के नेताओएकार्यकर्ताओ और स्थानीय नागरिकों द्वारा भव्य और शानदार स्वागत किये जा रहे हैं।राज्यसभा सांसद आरके सिन्हा देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा चलाये जा रहे कार्यो से लोगो को अवगत कराते हैं और कहते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वह कार्य  कर रहे हैं जिसे कभी देश के विकास को लेकर महात्मा गांधी ने सपने देखे थे।

आज गांधी के उन सपनों को नरेंद्र मोदी पूरा कर रहे हैं और देश प्रगति और विकास के नए अध्याय लिख रहा है। राज्यसभा सांसद अपनी पदयात्रा के दौरान उपस्थित जनसैलाब को बताते हैं कि आजादी के बाद वर्ष 1952 से लेकर 2013 तक जितनी भी सरकारें आई उसने महात्मा गांधी के नाम पर अपनी राजनीति चमकाई और गांधी के विचारों को इतिहास के पन्नो में दबा कर रखा।

नोटों पर गांधी के फोटो लगाए,गांधी के नाम पर संस्थाएं बनाई और अपने लाभ के लिए महात्मा गांधी की तस्वीर का इस्तेमाल किया बावजूद इसके इन सरकारों ने कभी भी महात्मा गांधी के भारत के नव निर्माण के देखे गए सपने लिखी गई वसीयत और भारत के रामराज की परिकल्पना को पूरा करने का प्रयास नही किया।

पदयात्रा के दौरान केंद्र सरकार के कार्यो के पक्ष को मजबूती के साथ रखते हुए वे बताते हैं कि जब केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बनी तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महात्मा गांधी के विचारों,सिद्धांतो और सपनों को पूरा करने की दिशा में दूरदर्शी और ऐतिहासिक फैसला लिया और  इतिहास के पन्नो में दबा कर रखे गए बापू के विचारों,सिद्धांतो और सपनों के भारत निर्माण की न सिर्फ बुनियाद रखी बल्कि एक एक कर बापू के विचारों को धरातल पर उतारने की सरकारी कोशिशें तेज हुई। देश के हर नागरिकों के घरों में शौचालय निर्माण कराकर खुले में शौच से आजादी मिली तो महिलाओ को इज्जत के साथ जिंदगी जीने का अधिकार मिला।

उनका कहना है कि बुनियादी शिक्षा,स्वच्छता, स्वावलंबन, नारी सशक्तिकरण, चरखे,पर्यावरण और स्वदेशी जैसे मुद्दे गांधी के सिद्धांतों के अहम हिस्सा थे। नरेंद्र मोदी ने सरकार और सत्ता की बागडोर संभालने के साथ ही इन कार्यो को पूरा करने की दिशा में कदम बढ़ा दिया है। आज बुनियादी शिक्षा, स्वच्छता, स्वावलंबन, चरखे, पर्यावरण और स्वदेशी के सवाल पर विकास कार्यो की झड़ी लगी है और देश विकास की राह पर बढ़ चला है।

पदयात्रा के क्रम में जगह जगह आयोजित हो रही सभाओं में राज्यसभा सांसद आरके सिन्हा कहते हैं कि महात्मा गांधी की राजनैतिक मजबूरियां चाहे जो हो और चाहे जिन परिस्थितियों में उन्होंने जवाहर लाल नेहरू को आजाद भारत के सत्ता की बागडोर सौंपने का निर्णय लिया हो फिर भी महात्मा गांधी के राजनैतिक विचारों  को ग्रहण करने की बातें नही हो रही है  और न ही  उसका प्रचार प्रसार हो रहा है बल्कि उनके उन सिद्धांतो को अपनाने की बात हो रही है जिन सिद्धांतो को लेकर राष्ट्र के नवनिर्माण की परिकल्पना की गई थी।

महात्मा गांधी ने आजादी मिलने के साथ ही कांग्रेस को खत्म कर देने की बात कही थी और कहा था कि कांग्रेस के नाम का इस्तेमाल चुनाव लड़ने के लिए नही किया जाय।

उन्होंने कहा था कि  कांग्रेस की स्थापना देश को आजाद कराने के लिए किया गया था। अब इसे खत्म नही किया जाएगा तो इसका गलत उपयोग होगा। उन्होंने कहा था कि जिन्हें भी चुनाव लड़ने हो वे  अलग अलग दल बनाकर जनता के बीच जायें और सरकार बनाएं लेकिन कांग्रेस को खत्म नही किया जा सका।

राज्यसभा सांसद आरके सिन्हा नरेंद्र मोदी को सदी का महान नेता बताते हुए कहते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के किये जा रहे कार्यो से भारत की तस्वीर बदल जाएगी और आने वाले दिनों में देश तरक्की का इतिहास लिखेगा।

पदयात्रा के दौरान बिहार और देश के मशहूर गायकों की टीम भी साथ साथ चल रही है जो पदयात्रा के दौरान जगह जगह आयोजित सभाओं के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के किये जा रहे विकास कार्यो से सम्बंधित गीतों की प्रस्तुति से जनजागरण फैलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे  हैं। शिक्षा,स्वच्छता,स्वावलंबन, प्लास्टिक बंदी, नशाबंदी, जल संरक्षण,पर्यावरण,नारी सशक्तिकरण और बेटी बचाओ.बेटी पढ़ाओ जैसे पीएम मोदी द्वारा चलाये जा रहे कार्यो पर आधारित गीतों से परिवर्तन की बयार बहने लगी है और पदयात्रा के उद्देश्यों को लोग आसानी से समझ जाते हैं।

शनिवार की देर शाम जमुई  जिले के बरहट प्रखंड  में पदयात्रा के दौरान जब राज्यसभा सांसद आरके सिन्हा पहुंचे तो वहां भाजपा विधायक रविन्द्र यादव,पूर्व विधायक अजय प्रताप,भाजपा  के जिलाध्यक्ष भाष्कर सिंह,भाजपा नेता विवेक सिंह की अगुवाई में हजारो लोगो ने राज्यसभा सांसद श्री सिन्हा का भव्य और शानदार स्वागत किया।यहां देर शाम तक आयोजित सभा मे राज्यसभा सांसद आरके सिन्हा ने लोगो से स्वच्छता,जैविक खेती, देशी गायों का गोपालन और स्वावलंबन पर जोर देने की अपील की और किसानों की आय बढ़ाने का मूलमंत्र दिया।

सांस्कृतिक कार्यक्रमो की भी धूम रही और नारी सशक्तिकरण,बेटी बचाओ, शिक्षा,स्वावलंबन एवं पर्यावरण पर आधारित गीतों से माहौल गूंज उठा। पदयात्रा में  प्रधानमंत्री मोदी  के जयघोष की गूंज तो राज्यसभा सांसद आरके सिन्हा के जयकारे से माहौल और अधिक खुशनुमा होता रहा है।फिलहाल भारी जनसमर्थन और अभूतपूर्व जनसैलाब के बीच राज्यसभा सांसद आरके सिन्हा की बिहार में चल रही पदयात्रा बापू का रामराज, मोदी का सु राज के नारे के साथ जारी है।