बुजुर्गों के मनोबल बढ़ाते नेहरू युवा केन्द्र 
May 8, 2020 • जयपुर ब्यूरो

जयपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंशा और भावना के अनुरूप कोरोना जंग के दौरान  बुजुर्गों ए गर्भवती महिलाओं  और बीमारों  की सेवा के लिए नेहरू युवा केंद्र के स्वयं सेवकों ने कमर कस ली है।  कोविड 19 के चलते  बुजुर्गोए बच्चो और  गर्भवती महिलाओ के स्वास्थ्यं को लेकर चिंतित ग्रामीण युवा इन सभी का मनोबल बढाने के साथ साथ उन तक जरुरी  सुविधायें पहुँचाने  में हर संभव प्रयास कर रहे है। राज्य के प्रत्येक जिले में कार्यरत नेहरू युवा केन्द्र  के मार्ग निर्देशन  में राष्ट्रीय  युवा स्वयं सेवक एवं युवा मण्डलों के कार्यकर्ता बुजुर्गो से  संवाद करते हुऐ कोविड 19 से मुकाबला करने के  गुर भी बता रहे है।
हनुमानगढ के सांगरिया ब्लाक का  एक गांव है भारवरवाली । राष्ट्रीय  युवा स्वयं सेवक  लखवीर सिंह के अनुसार  777  परिवार  वाले गांव में करीब  570 बुजुर्ग है । गांव के आजाद युवा मंण्डल  ने इन  बुजुर्गो की सेवा का जिम्मा ले रखा है।   राष्ट्रीय  युवा स्वयं सेवक लखवीर सिंह  के नेतृत्व में गांव के प्रत्येक बुजुग और बच्चे को फेस मास्क  तैयार करके निषुल्क
दिये गये है। बुजुर्गो और बच्चे को घर से बाहर नही निकलने  देने के लिए लाउड स्पीकंर से संदेश  प्रसारित करते रहते है और गांव में सभी को समझाते रहते है। इसी तरह लखवीर  के दिषा निर्देश  में  रामपुरा  और पीलबंगा में भी युवा मंण्डल बुजुर्गो की देखभाल के लिए आगे आकर  सेवा का कार्य कर रहे है। नेहरू युवा केन्द्र की  जिला सुवा संमन्वयक मधु यादव के अनुसार
हनुमानगढ में  राष्ट्रीय  युवा स्वयं सेवकों  के नेतृत्व में युवा मंण्डल बुजुर्गोए बच्चो  और गर्भवती महिलाओं को लेकर संवेदनषील होकर कार्य कर रहे है।
सीकर जिले  के हर्श गांव का विवेकानंद युवा मंण्डल भी युवा समन्वयक तरुण जोशी के निर्देशन में  बुजुर्गो की सुरक्षा एवं देखभाल के  लिए चोकस है। मंण्डल की  21 सदस्येय नौजवानों की टीम ने हर्शए भोयाए मालीयो की ढाणी, देवगढ में  न केवल  बुजुर्गो,बच्चो एवं गर्भवती महिलाओ को मास्क  बांटे हैं और उन्हें  नियमित रूप से शहर से दवाईयां लाकर  भी उपलब्ध करा रहे है । ताकि  डायबिटिंजए हार्ट  की बीमारी के बुजुर्ग मरीजो  को किसी भी प्रकार की परेषानी नही हो । अब तक  ढाई लाॅख रूपये की दवा करीब चार सौे बुजुर्गो और बच्चो में वितरित कर चुके है। गर्भवती महिलाओं  की देखभाल, डिलवरी कराने  में  साधन सुविधायें उपलब्ध कराने को युवा मण्डल हर समय तैयार रहता है। हाल ही में लाकडाउन  पीरिहड में एक गर्भवती महिला की डिलेवरी षहर के अस्पताल ले जाकर युवा मंण्डल ने कराई। गांव में  सतर साल के  दुल्हाराम और उसकी  पत्नी  के जवान बच्चों की असमय मूत्यु हो गई। घर में कोई कमाने वाला नही है।  युवा मंण्डल ने ऐसे  बुजुर्गो की  संपूर्ण देखभाल  का जिम्मा ले रखा है। हर्श गांव के  विवेकानंद युवा मण्डल के मुकेष सैनी, शंकर लाल, सुनिल सैनी, लोकेश  सहित सभी युवा राश्ट्रीय युवा स्वयं सेवक प्रमोद सैनी  के साथ मिलकर काम कर रहे है। युवाओं की टीम सभी बुजुर्गो को दवाईए फेस मास्क ही नही दे रहे है वरन उनके मनोबल को बढाने एवं चिंतामुक्त करने के लिए भी  प्रयास कर रहे है सोषल डिस्टेंसिग की
जानकारी भी देते है और उनका मंनोरजन भी करते है।
 सीकर, हनुमानगढ के  राष्ट्रीय  युवा स्वयं सेवक  एवं युवा मण्डलो की तरह राज्य  के समस्त जिलो में नेहरू युवा केन्द्र संगठन ने जिला युवा समन्वयकों, राश्ट्रीय युवा स्वयं सेवको एवं युवा मण्डलो के माध्यम से बुजुर्गो, बच्चो एवं गर्भवती महिलाओं की देखभाल के लिए विषेश  जनजागरण अभियान जारी कर रखा है। बुजुर्गो की सेवा के लिऐ युवाओ को प्रेरित करने,मार्ग  निर्देषन के लिए  राज्य के प्रत्येक जिले के प्रत्येक ब्लाक में दो दो  राष्ट्रीय  युवा स्वयं सेवक एवं सक्रिय युवा मण्डल पदाधिकारियों को नेहरू युवा केन्द्र संगठन  राजस्थान  यूनिसेफए यू एन एफ पी ए के माध्यम से  प्रशिक्षित   कर रखा है। राज्य में इस समय स्वयं सेवा की भावना  से युवा मण्डलो ने करीब  72  हजार बुजुर्गो को अपने से जोडा है और उनका मनोबल बढा रहे हैए उनकी परेशानियों को दूर करने में मददगार बन रहे है।