65 हजार करोड़ रूपये का निवेश और 250 परियोजनाओं का शुभारम्भ
July 29, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो

केंद्रीय गृह मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष  अमित शाह ने आज लखनऊ  के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में राज्य सरकार के इन्वेस्टर्स समिट के द्वितीय ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी का उद्घाटन किया और उत्तर प्रदेश में 65 हजार करोड़ के निवेश की 250 से अधिक परियोजनाओं की नींव रखी। कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी उपस्थित थे। ज्ञात हो कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी की पहल पर पिछले वर्ष फरवरी में लखनऊ में ही प्रथम इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन किया गया था। इसमें लगभग चार लाख 68 हजार करोड़ रुपये के एमओयू पर लिखित सहमति हुई थी और कई दिग्गज उद्योगपतियों ने इसमें शिरकत की थी। इस बार भी उद्योग जगत की कई प्रसिद्ध हस्तियाँ समिट में भाग ले रही हैं।

श्री शाह ने कहा कि काफी कम समय में ही योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने सफलता के नए आयाम स्थापित किये हैं। पिछले वर्ष लखनऊ में आयोजित इन्वेस्टर्स समिट में साइन हुए चार लाख 68 हजार करोड़ रुपये के लगभग 1000 एमओयू में से 25ः एमओयू को जमीन पर एक ही साल में उतारने का काम योगी आदित्यनाथ की सरकार ने किया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी की उपस्थिति में लगभग 81 परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया था। आज लगभग 65 हजार करोड़ रुपये का निवेश और 250 से अधिक परियोजनाओं का शिलान्यास हो रहा है। मैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी एवं उनकी पूरी टीम को इसकी सफलता के लिए हार्दिक शुभकामनाएं देता हूँ।

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि सरकार में आते ही प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने हर क्षेत्र के लिए विकास का खाका तैयार किया और नीतियों को तेजी से अमल में लाने की शुरुआत की। मुझे याद है जब एक मीटिंग में प्रधानमंत्री जी ने कहा था कि अब तक जितनी भी सरकारें आई उन्होंने केवल सरकार चलाने के लिए ही सरकार चलाई लेकिन हमें देश को बदलने के लिए सरकार चलानी है जिसका हमें जनादेश मिला है। मुझे यह कहते हुए गर्व हो रहा है कि माननीय प्रधानमंत्री जी ने विगत पांच वर्ष और 50 दिन में इसे चरितार्थ कर दिखाया है। प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी जी ने सुरक्षा,आर्थिक विकास एवं  संस्कृति का संवर्द्धन और जन.भागीदारी के साथ सर्वस्पर्शी एवं सर्व समावेशी विकास का मॉडल देश एवं दुनिया के सामने रखा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी बंद आँख से नहीं बल्कि खुली आँखों से सपने देखने और उसे जमीन पर पूरी तरह से उतारने के आदी हैं। उन्हें तब तक नींद नहीं आतीए जब तक कि कार्ययोजना सही तरीके से धरातल पर न उतर जाये।

श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने भारत को पांच ट्रिलियन डॉलर की इकॉनमी बनाने का लक्ष्य रखा है और इसकी नींव मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में रखी जा चुकी है। पिछले पांच वर्षों के कार्यकाल की उपलब्धियों से स्पष्ट है कि यह नींव कितनी मजबूत है। 2004 में श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी देश को विश्व की 11वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में छोड़ कर गए थे लेकिन 2004-.2014 के बीच इसमें कोई बदलाव नहीं हुआ और भारत 11वें स्थान पर ही कायम रहा जबकि मोदी सरकार के पांच साल के ही कार्यकाल में भारत 11वें स्थान से विश्व की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में प्रतिष्ठित हुआ। अब प्रधानमंत्री जी का लक्ष्य अगले पांच साल में दुनिया की तीन मुख्य अर्थव्यवस्थाओं में शामिल कराना है। प्रति व्यक्ति आय जो आजादी के बाद किसी एक कार्यकाल में सबसे अधिक है।

निवेशकों को संबोधित करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि मोदी सरकार ने भारत जैसे विशाल और विविधताओं से भरे देश में जीएसटी लागू करना आसान नहीं था, एक्सपर्ट तमाम चिंताएं जता रहे थे लेकिन मोदी सरकार ने दुनिया के सबसे बड़ा बिक्री कर रिफॉर्म को सफलतापूर्वक लागू किया। उन्होंने कहा कि आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए कई अडचनें दूर करनी होती हैं और इसलिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने ईज ऑफ डूइंग बिजनेस को लेकर शुरुआत से ही नीतियाँ बनाई और राज्यों में इसके लिए प्रतिस्पर्द्धा के वातावरण का निर्माण किया। राज्यों ने एक स्वस्थ प्रतिस्पर्द्धा के रूप में इसे लेते हुए अपने मानांकों में सुधार किया और इसका परिणाम यह हुआ कि 2014 में जो हम ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के वर्ल्ड रैंकिंग में 142वें स्थान पर थेए उससे कई पायदानों की छलांग लगाते हुए हम 77वें स्थान पर पहुँच गए हैं। बिजली के उत्पादन में हम 99वें से 26वें स्थान पर और डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क के मामले में भी हम 120वें स्थान से 26वें स्थान पर पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने पांच सालों में मजबूत नींव तैयार किया है जिस पर देश के अर्थतंत्र की बड़ी और मजबूत इमारत खड़ी होगी। इसके लिए प्रधानमंत्री जी के पास विजन भी हैए संकल्प भी है और परिश्रमी टीम भी है।

उत्तर प्रदेश में हुए व्यापक सुधारों की सराहना करते हुए श्री शाह ने कहा कि विगत दो वर्षों में प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी जी के मार्गदर्शन और योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में हर क्षेत्र में तेज गति से विकास हुआ है जो पहले अकल्पनीय लगता था। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में सबसे बड़ी जरूरत थी लोगों में आत्मविश्वास पैदा करनाए लोगों में सरकार और संस्थाओं के प्रति विश्वास जगाना और उन्हें बदलाव में भागीदार बनाना और योगी जी अपनी निष्ठा और लगन से ऐसा करने में सफल हुए हैं। उन्होंने कहा कि हमने उत्तर प्रदेश के विधान सभा चुनाव के समय अपने विजन डॉक्यूमेंट में 40 मेडिकल कॉलेज बनाने का वादा किया थाए आज 17 मेडिकल कॉलेजों को बनाने काम पूरा हो चुका है और 15 अन्य मेडिकल कॉलेज पाइपलाइन में है। इतना ही नहींए अल्पावधि में ही योगी सरकार ने राज्य के सभी आम नागरिकों के लिए बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई हैं और सरकार के विजन को धरातल पर उतार कर दिखाया है। उन्होंने निवेशकों से कहा कि पांच वर्षों में उत्तर प्रदेश में अंतर्राष्ट्रीय स्तर की सड़कों का जाल बिछेगा। उन्होंने कहा कि राज्य में बेहतर इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए विजन और रिविजन के साथ माइक्रो प्लानिंग की गई है और चाहे जल मार्ग होए बिजली उत्पादन की बात होए बिजली की उपलब्धता की बात हो या राज्य के 20 जिलों में डेयरी बनाने की बातए हर कार्ययोजना को मूर्त रूप में उतारने की दिशा में काम हुआ है। 

एक प्रमुख विषय पर निवेशकों का ध्यान आकृष्ट करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश में जिस एक महत्वपूर्ण योजना को अमलीजामा पहनाने का काम कियाए वह है एक जिला एक उत्पाद की योजना। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश कई परंपरागत उयोगों के लिए मशहूर रहा है जैसे इत्र, पीतल और मिट्टी के बर्तन, चांदी पर नक्काशी, टैक्सटाइल और हथकरघा उद्योग लेकिन सपा-.बसपा और कांग्रेस की सरकारों की लापरवाही के कारण यह प्रदेश से लगभग ख़त्म हो गया था। हमने उत्तर प्रदेश को आर्थिक रूप से अपने पैरों पर खड़ा करने के उद्देश्य से अपने संकल्प पत्र में कहा था कि हम हर जिले में ऐसे उद्योगों की पहचान करेंगेए इसके लिए मैन्यूफेक्चरिंग फैसिलिटी देंगे व्  ऋण उपलब्ध करायेंगे और इसके साथ ही प्रोडक्ट्स के लिए मार्केटिंग की व्यवस्था भी करेंगे और ऑनलाइन पोर्टल पर उत्पादों की बिक्री हो सके यह भी सुनिश्चित करेंगे। आज मुझे यह कहते हुए गर्व हो रहा है कि योगी सरकार ने एक वर्ष में ही राज्य के सभी 80 जिलों में इस कार्यक्रम की शुरुआत कर दी है और अब उत्तर प्रदेश के उत्पाद का विदेशों में भी एक्सपोर्ट हो रहा है।

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि योगी सरकार की सबसे बड़ी सफलता उत्तर प्रदेश के लॉ एंड ऑर्डर की व्यवस्था को सुदृढ़ करना है। योगी आदित्यनाथ जी ने दो साल की अल्पावधि में ही क़ानून.व्यवस्था में जमीन.आसमान का अंतर लाने का कार्य किया है। हमारा स्पष्ट मानना है कि बिना सुचारू लॉ एंड ऑर्डर के विकास की कल्पना नहीं की जा सकती। पिछली सरकारों का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा कि भूतकाल में उत्तर प्रदेश में प्रशासन का इतना राजनीतिकरण हुआ कि पारदर्शिता का दूर.दूर तक नामोनिशान तक नहीं था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दो साल में ही प्रशासन को ष्राजनेताओं का सेवकष् के रूप में काम करने के बजाय ष्जनता का सेवकष् के रूप में प्रतिष्ठित किया। यह मूलभूत परिवर्तन उत्तर प्रदेश के विकास की नींव बना है।

श्री शाह ने कहा जो भी निवेशक उत्तर प्रदेश में निवेश करने आये हैंए उनसे मैं कहना चाहता हूँ कि योगी सरकार के साथ.साथ भारत सरकार भी उत्तर प्रदेश के विकास के लिए और योगी सरकार की योजनाओं को जमीन पर उतारने के लिए उतनी ही कटिबद्ध है। उन्होंने कहा कि 13वें वित्त आयोग में तब की कांग्रेस सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश के विकास के लिए केवल 330 लाख करोड़ रुपये की राशि आवंटित की गई जबकि 14वें वित्त आयोग में मोदी सरकार के समय राज्य को विकास के लिए रिकॉर्ड 880 लाख 612 करोड़ रुपये की राशि दी है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश का विकास केवल उत्तर प्रदेश सरकार की जिम्मेदारी नहीं है, भारत सरकार की भी है। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि योगी सरकार ने राज्य के विकास के लिए जितनी भी योजनायें हाथ में ली हैं उसका पूर्ण होना निश्चित है। उन्होंने निवेशकों को विश्वास दिलाते हुए कहा कि आपने उत्तर प्रदेश में निवेश करने का जो बुद्धिमत्ता भरा फैसला लिया है, उस पर यूपी खड़ा उतरेगा और आने वाले समय में आपको शिक्षा स्वास्थ्य एवं उद्योग और व्यापार प्रणाली में चमत्कारिक परिवर्तन देखने को मिलेगा।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि बचपन से सुनता आया था कि यदि हिंदुस्तान का प्रधानमंत्री बनना है तो उसका रास्ता यूपी से होकर जाता है। उत्तर प्रदेश ने देश को कई प्रधानमंत्री दिए हैं। श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी भी उत्तर प्रदेश से ही चुन कर आते थे और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी भी यूपी के ही वाराणसी का प्रतिनिधित्व करते हैं। आज मैं कहना चाहता हूँ कि देश को पांच ट्रिलियन डॉलर की इकॉनमी बनाने का रास्ता भी उत्तर प्रदेश से ही होकर जाता है। इसमें एक ट्रिलियन डॉलर का योगदान उत्तर प्रदेश का रहने वाला है। उन्होंने निवेशकों से कहा कि आपने जो आशाएं योगी सरकार से रखी हैंए वह निश्चित समय सीमा में आपके मापदंडों पर खरे उतरेंगे। मैं प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी जी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की ओर से आप सभी का हार्दिक धन्यवाद करता हूँ। उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी प्रदेश के उद्योग मंत्री सतीश महाना मंत्रिमंडल के सभी सदस्य और प्रदेश के उद्योग सचिव एवं उनकी पूरी टीम को बधाई देता हूँ कि उन्होंने इतने बड़े कार्यक्रम को सफल कर दिखाया। मैं सभी निवेशकों से निवेदन करना चाहूंगा कि आईये आप उत्तर प्रदेश में निवेश कीजिये और राज्य को उत्तम प्रदेश बनाने में योगी जी के हाथ मजबूत कीजिये।