जहां झुग्गी वहां मकान -मनोज तिवारी
January 23, 2020 • प्रथम स्वर ब्यूरो

आम आदमी पार्टी ने प्रलोभनों की राजनीति का रास्ता अपनाया है - रमेश बिधूड़ीनई दिल्ली।  दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी और सांसद रमेश बिधूड़ी ने आज तुगलकाबाद विधानसभा क्षेत्र में भाजपा प्रत्याशी विक्रम बिधूड़ी और देवली विधानसभा क्षेत्र में अरविंद कुमार के समर्थन में लोगों से वोट की अपील करते हुए पदयात्रा निकाली और जनसभाओं को संबोधित किया। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष रोहताश बिधूड़ी निगम पार्षद राजपाल सिंह उपस्थित थे।

दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि देश के विकास की सबसे बड़ी पूंजी देश का युवा होता है पर यह दुखद है कि भारत का राजनीतिक रूप से हताश विपक्ष अपनी चुनावी संभावनाओं को बलवती करने के लिये युवाओं को गुमराह कर अराजकता की ओर धकेल रहा है। दिल्ली के युवाओं का एक बहुत बड़ा वर्ग इस षडयंत्रकारी वातावरण को भलिभांति समझ रहा है और वह कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के खिलाफ है, वो चाहता है कि दिल्ली में मजबूत सरकार बने जो गत 5 साल से ठप्प दिल्ली के विकास को पुनः चालू करे। विपक्षियों द्वारा नागरिकता संशोधन कानून को लेकर भ्रम की स्थिति जानबूझकर पैदा की जा रही है ताकि लोगों को भड़काया व उकसाया जाये। केन्द्र सरकार को अस्थिर करने के इरादे से विपक्ष की ये साजिश है जिसे हमें मिलकर विफल करना है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि कश्मीर से सम्बन्धित अनुच्छेद 370 व राम मंदिर का निर्णय इतनी आसानी से आ जायेगा यह किसी को भी नहीं लगता था लेकिन मोदी सरकार ने अपने कार्यकाल के 100 दिन के भीतर ऐतिहासिक निर्णय लेते हुये जनहित के मुद्दों को हल करने का काम किया है। कच्ची कॉलोनियों को पक्का करने और जहां झुग्गी वहां मकान जैसे अभूतपूर्व कदम उठाते हुये मोदी जी ने साबित कर दिया है कि मोदी है तो मुमकिन है। भाजपा ही एकमात्र पार्टी है जो आम दिल्ली वासियों की सच्ची हितैषी है।

इस अवसर पर सांसद रमेश बिधूड़ी ने कहा कि दिल्ली की जनता ने गत 5 साल में आम आदमी पार्टी की सरकार और उसके छलावों को देखा है। दिल्ली की जनता ने देखा है कि 2019 के लोकसभा चुनाव तक अरविंद केजरीवाल केवल अराजकता और विवादों की राजनीति करते रहे, लेकिन लोकसभा चुनाव की हार के बाद उन्होनें प्रलोभनों की राजनीति का रास्ता अपनाया है। जनता ने स्वंय देखा है मौकापरस्ती सीखनी है तो उनसे सिखी जा सकती है जिन्होनें दिल्ली में 5 साल सरकार चलायी है। झूठ, भ्रम, छलावे की राजनीति देखनी है तो आम आदमी पार्टी के 5 साल और 15 साल पहले कांग्रेस की सरकार में देखी जा सकती है। दिल्ली में बसे लगभग 2 करोड़ लोग यह भलिभांति जानते हैं कि यह प्रलोभन चुनावी रेवड़ियों से अधिक कुछ नहीं और वह दिल्ली के विकास और अपने समग्र विकास को ध्यान में रखते हुये मतदान करेंगे। दिल्ली में 3 महीने वाली नहीं 60 महीने वाली सरकार चाहिए जो जनता की सेवा कर सके और भाजपा ऐसी ही सरकार दिल्ली की जनता को देगी।