प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी के निवास पर आयोजित हुआ भव्य कीर्तन दरबार
November 9, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो

              # गुरू नानक देव जी के 550वें प्रकाश उत्सव 

 नई दिल्ली। सिख पंथ के प्रथम गुरू नानक देव जी के 550वें प्रकाश पूरब के उपलक्ष्य में आज भारतीय जनता पार्टी दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी के आवास पर नगर कीर्तन दरबार का आयोजन किया गया। इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी द्वारा सिखों की सबसे बड़ी आस्था का केन्द्र करतारपुर साहिब कॉरिडोर खोलने पर उनका कोटि कोटि धन्यवाद करना था। सुकराना के नाम से आयोजित कार्यक्रम में भाजपा के पूर्व संगठन महामंत्री  रामलाल जी, सांसद  रमेश बिधूड़ी, भाजपा के राष्ट्रीय मंत्री सरदार आर.पी. सिंह, प्रदेश संगठन महामंत्री सिद्धार्थन, प्रदेश महामंत्री  कुलजीत सिंह चहल,  रविन्द्र गुप्ता एवं  राजेश भाटिया, महापौर अवतार सिंह, सरदार कुलदीप सिंह, सरदार कुलविंदर सिंह बंटी, सरदार सुरेन्द्र पाल सिंह बिट्टू, प्रदेश पदाधिकारियों, विधायकों, निगम पार्षदों, सहित जिला एवं मंडल के प्रमुख कार्यकर्ता तथा सिख समाज के प्रमुख प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

 उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुये दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि करतारपुर साहिब कॉरिडोर खोलने का कार्य प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सरकार के प्रयासों से संभव हो पाया है जिसके उपरान्त सिख समाज को गुरू नानक देव जी के जीवन के अन्तिम वर्षों से जुड़े स्थान के दर्शन आसानी से संभव हो सकेंगे। यह समाज के लिए एक बड़ी उपलब्धि है जिसे सिख समाज सदियों तक याद रखेगा। दिल्ली की ओर से प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी का धन्यवाद करने के लिए आज हम सभी ने  सुकराना कार्यक्रम का आयोजन किया है। गुरू का नाम लेने से कल्याण होता है और गुरू के दिखाये रास्ते पर चलने के लिए हम सभी को हमेशा अग्रसर रहना चाहिए। गुरु नानक देव जी, सिर्फ सिख पंथ की या फिर भारत की ही धरोहर नहीं, बल्कि पूरी मानवता के लिए प्रेरणा पुंज हैं। गुरु नानक देव एक गुरु होने के साथ-साथ एक विचार हैं, जीवन का आधार हैं। हमारे संस्कार, संस्कृति, मूल्य, परवरिश और हमारी सोच सब गुरु नानक देव जी जैसी पुण्य आत्माओं द्वारा गढ़ी गई हैं।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी ने आज देश को करतारपुर साहिब कॉरिडोर समर्पित किया है जिसके बाद सिख श्रद्धालु गुरू नानक देव जी के इस पावन स्थल के दर्शन कर सकेंगे। केंद्र सरकार के महत्वपूर्ण फैसलों से सिख समुदाय को सीधा लाभ हुआ है। भारत की एकता व सुरक्षा के लिए गुरुनानक देव जी से लेकर गुरु गोविंद जी तक अनेक गुरुओं ने बलिदान दिए हैं। इस परंपरा को सिख साथियों ने आजादी की लड़ाई और भारत की रक्षा में पूरी शक्ति से निभाया है। सिखों के बलिदान को देश मरते दम तक नहीं भूला सकता है। उनके अनेकों बलिदान आज की युवा पीढ़ी के लिए प्रेरणाश्रोत बने हुये हैं। गुरू नानक देव जी ने मानव सेवा को अपना जीवन समर्पित कर दिया और धर्म मार्ग पर चलते हुये समाज कल्याण की राह को लोगों को दिखाया।