रिवायरड.जीजी ने इ-स्पोर्ट कंपनी में किया €1.4करोड़ का नया निवेश
November 18, 2019 • प्रथम स्वर ब्यूरो
निवेश टीम वाइटैलीटी के भारतीय कारोबार औरओनलाइन खेलों की लोकप्रियता बढ़ाने में मद्द करेगा
लंदन।  रिवायरड.जीजी, €5 करोड़ मूल्याकन का ओनलाइन स्पोर्ट वैनचर फंड जो कि विश्व में ओनलाइन खेलों को प्रोत्साहन देता है, बहुत प्रसन्नता के साथ घोषणा करता है कि उसने टीम वाइटैलीटी में €1.4 करोड़ का एक और निवेश किया है, जिससे उसका कम्पनी में कुल निवेश €3.4  करोड़ हो गया है । 
यह विनियोग टीम वाइटैलटी के भारत में विकास को और बढ़ावा देगा. टीम वाइटैलटी भारत में नई कंपनीओं को खरीदकर और देश भर में अपनी ई-स्पोर्ट अकादमी स्थापित कर कारोबार और आगे बढ़ा रही है ।  इस समूह की स्थापना सन 2013 में €10,000 के पुंजी निवेश से हुई थी। अब यह दुनिया की पहली $1 खरब मूल्याकन वालीकंपनी बनने का लक्ष्य साध रहा है। इस नये पूंजी निवेश के बाद, इससे पहले नवंबर 2018 में इसे रिवायरड.जीजी से € 2 करोड़ की मदद मिली थी, यह यूरोप का इतनी बड़ी राशि पाने वाला पहला ई-स्पोर्ट कारोबारी संगढ़न बना गया है।           
भारत अभी तक अनेक उच्च श्रेणी के खिलाड़ी विश्व इ-स्पोर्ट को नहीं दे पाया है, और टीम वाइटैलटी भारत से सर्वश्रेष्ठ खेल रत्नों कों ढ़ूढ़, उनकी एक टीम बनाकर उन्हे विश्व प्रतिस्पर्धाओं में खिलाना चाहती है।  टीम वाइटैलटी भारतीय उच्च श्रेणी के खिलाड़ीयों को सुनहरे अवसर देकर भारत में लोकप्रिय हो जाना चाहती है जिससे की वह भारतीय खेल और ओनलाइन खेल जगत का एक अटूट हिस्सा बन जाए। भारत में कुल 40 करोड़ समार्ट फोन ग्राहक हैं, और भारतीय ओनलाइन खेल कारोबार सन 2021 तक 19 करोड़ नये खिलाड़ीयों के साथ जुड़ जाना चाहते हैं। इसके अलावा 65% भारतीयों की गणना युवाओं में होती है और उतनी ही तादात इ-स्पोर्ट की भी। नई पीढ़ी के युवा परंपरागत खेलों (जैसे किक्रेट) से ज्यादा नये खेलों में, खास कर ओनलाइन खेलों में रूचि रखते हैं।
आज के दिन ही टीम वाइटैलटी के पेरिस में स्थित मुख्य कार्यालय, जिसे वि. हाइव के नाम से जाना जाता है, को आम दर्शकों के लिए खोल दिया गया है। यह विश्व में पहला अवसर है कि एक इ-स्पोर्ट टीम का मुख्यालय, जो 10,700 स्केवर फ़ीट में फैला हुआ है जिसका 530 स्केवर फ़ीट पेरिस के चहल पहल वाले इलाके में है, दर्शकों को इ-स्पोर्ट जगत के नये मनोरंजक खेल और अनुभवों की झलकीयाँ दिखाएगा। 
टीम वाइटैलटी यूरोप के सबसे बड़े ओन लाइन खेल संगठनों में से एक है, और विश्व के उच्चतम कोटी के इ-स्पोर्ट खिलाड़ीयों और शिक्षकों का केंद्र होने का दावा करता है। यह यूरोप की लीग ओफ़ लैजंडस यूरोपियन चैमपियनशिप फ़्रैनचायज़ी की 10 इ-स्पोर्ट टीमस में से एक है। हाल ही में इसने वैर्लड चैमपियनशिप फ़ोर रोकट लीग कप और प्रतिष्ठित ईसीस टोर्नामेंट फ़ोर काउंटर सटृाईक गलोबल ओफ़ैनसिव के सातवें सिज़न को जीता है। इसके अलावा फ़िफ़ा वैल्ड चैमपियनशिप 2019 में यह तीसरे स्थान पर रहा। यह कुछ चुन्निंदा ई-स्पोर्ट टीमस में से है जिनके पास औरंज, रैनो, रैड बुल और आडीडास जैसे बेहतरीन प्रायोजक हैं।         
रिवायरड.जीजी का अनुमान है कि ओन लाइन खेल पारंपरिक खेल जैसे सौकर (फ़ुटबॅाल) और बास्कैटबॅाल के प्रतिद्वंदी बन जाएगें, तथा संस्थागित निवेशकों, निधियों और निवेश प्रबंधकों के लिए विनियोग की प्रमुख श्रेणीयों में आ जाऐंगे। अनुमान लगाया जाता है कि सन 2020 तक विश्व में मासिक ओनलाइन खेल दर्शकों की संख्या तकरीबन 60 करोड़ हो जाएगी। यह आंकड़ा इंगलीश प्रीमियर लीग के आज के विश्व दर्शकों की अनुमानित संख्या के बराबर है।          
किसी भी बड़े खेल की तरंह, ओनलाइन स्पोर्ट मीडीया राईटस, विज्ञापनों, पुरस्कार राशि, खेल संबंधी बिक्री उत्पाद, प्रायोजकों और कारोबार भा्गीदारी पर आधारित है।  इनसे द्वारा प्रायोजित आय में चरघातांकी बढ़ोतरी हुई है। एक अनुमान के अनुसार सन 2017 में ई-स्पोर्टस की वार्षिक आय $ 65.6 करोड़ थी जिसका 38 % हिस्सा प्रायोजकों और 14 % मीडीया राईटस से आया।  अनुमान लगाया जाता है सन 2022 तक ओनलाइन स्पोर्ट की कुल आय का 40 % हिस्सा मीडीया राईटस से आऐगा, और विश्व भर से इसका कुल व्यापार मूल्याकंन $ 3 खरब होगा।  
टीम वाइटैलटी के मुख्य सचिन निकोलस मोरर ने कहा, “हमने सन 2013 में टीम वाइटैलटी को €10,000 के पुंजी निवेश के साथ शुरू किया था। आज टीम वाइटैलटी ने एक से एक बढ़कर टीम बनाई हैं जो विश्वभर में लगातार टोर्नामैंटस जीत रही हैं। हमने एक मजबूत ब्रैंड भी खड़ी की है जिसकी सफ़लता में हमारे शानदार और पूर्णतया समर्पित चाहने वालों का तथा हमारे मह्तवपूर्ण प्रायोजकों का बड़ा योगदान रहा है। रिवायरड.जी़.जी का सन 2018 में हमारी कंपनी में € 2 करोड़ का निवेश ना सिर्फ हमारी टीम की सफलता का बल्कि इस पूरे क्षेत्र के बढ़़ने की क्षमता का प्रमाण है। यह नया निवेश भी टीम वाइटैलटी को एक विश्वस्तर की ई-स्पोर्ट ब्रैंड बनाने में मह्तवपुर्ण सिद्ध होगा। हम लोग आशा करते हैं कि भविष्य में बढ़ते इस सफर में हम आपकों ऐसी और कई जीतों के बारे में सूचित करते रहेंगे।”
रिवायरड.जी़.जी प्रमुख अमित जेन ने कहा, “ किसी भी ऐसे उ्द्यम में कदम रखना जहां उपभोक्ताओं  की तादाद करोड़ों में बढ़ रही हो, एक बहुत ही रोमांचक फै़सला है। ई-स्पोर्ट भी ऐसा ही एक क्षेत्र है. हमने  ई-स्पोर्ट के इस भावी चलन को तकनीकी क्षेत्र में अनुभव किया हुआ है, जहाँ पर पहले दर्शकों की तादाद भरमार हो जाती है और बाद में मुनाफ़ा आने लगता है।  हम मानते हैं कि ई-स्पोर्ट विश्व के सबसे तेज़ बढ़ने वाले उद्यमों में से एक है, खासकर भारत में, और टीम वाइटैलिटी जैसी कम्पनियों की सफ़लता इस बात का प्रमाण है कि इस क्षेत्र में बढ़ोतरी की अच्छी क्षमता है। हम विश्व की पहली 1 खरब मूल्यांकन वाली ई-स्पोर्ट कंपनी बनाने के लिए काम कर रहे हैं।”